दैनिक भास्कर हिंदी: मनोहर पर्रिकर के निधन पर पीएम मोदी ने जताया शोक, कहा- आभारी रहूंगा

March 18th, 2019

हाईलाइट

  • मनोहर पर्रिकर का शुक्रवार को 63 साल की उम्र में निधन हो गया।
  • वह काफी समय से पैन्क्रिएटिक कैंसर से जूझ रहे थे।
  • मनोहर पर्रिकर की पहचान हमेशा से एक ईमानदार और सादगी से भरे नेता के रूप में होती रही है।

डिजिटल डेस्क, नई दिल्ली। पूर्व रक्षा मंत्री और गोवा के मुख्यमंत्री मनोहर पर्रिकर का शुक्रवार को 63 साल की उम्र में निधन हो गया। वह काफी समय से पैन्क्रिएटिक कैंसर से जूझ रहे थे। मनोहर पर्रिकर की पहचान हमेशा से एक ईमानदार और सादगी से भरे नेता के रूप में होती रही है। राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने ट्वीट कर उन्हें श्रद्धांजलि दी है। पीएम ने कहा कि भारत की निस्वार्थ भाव से सेवा करने के लिए देश सदैव मनोहर पर्रिकर के आभारी रहेगा। 

पीएम मोदी ने कहा, 'मनोहर पर्रिकर एक असाधारण नेता थे। वह एक सच्चे देशभक्त और प्रशासक थे। उनके अच्छे स्वभाव के लिए सभी उनकी प्रशंसा करते थे। राष्ट्र के प्रति उनकी सेवा को कई पीढ़ियों द्वारा याद किया जाएगा। उनके निधन से गहरा दुख पहुंचा है। उनके परिवार और समर्थकों के प्रति संवेदना व्यक्त करता हूं। ऊँ शांति।'

 

 

पीएम मोदी ने कहा, ''मनोहर पर्रिकर आधुनिक गोवा के निर्माता थे। अपने मिलनसार व्यक्तित्व और सुलभ स्वभाव की बदौलत वह वर्षों तक राज्य के पसंदीदा नेता बने रहे। उनकी जन-समर्थक नीतियों ने गोवा को प्रगति की नई ऊंचाइयों तक पहुंचाया।

पीएम ने कहा, 'रक्षा मंत्री के रूप में उन्होंने देश को एक नई ऊर्जा दी। पूरा भारत सदैव उनका आभारी रहेगा। मैं उनका आभारी रहूंगा। जब वह रक्षामंत्री थे, तो भारत ने कई ऐसे फैसले लिए, जिसने भारत की सुरक्षा क्षमताओं को बढ़ाया। इस दौरान हमने भारत में ही हथियारों और फाइटर प्लेन बनाने को बढ़ावा दिया। पर्रिकर समय-समय पर सैनिकों से मिलते रहते थे। उन्होंने पूर्व सैनिकों के जीवन को बेहतर बनाने का भी काम किया है।'

बता दें कि लंबे समय से बीमार चल रहे गोवा के मुख्यमंत्री मनोहर पर्रिकर का रविवार को उनके डोना पौला स्थित निवास पर निधन हो गया। पर्रिकर की हालत बिगड़ने के बाद डॉक्टरों की टीम उनकी हालत पर नजर रखी हुई थी और सुधार की पूरी कोशिश कर रही थी, लेकिन उन्हें बचाया नहीं जा सका। राजनीति, सिनेमा, खेल और कला जगत से जुड़ी हस्तियों ने उनके निधन पर गहरा दुख जताया है।