comScore

पीएम मोदी ने कहा- मां हमें जन्म देती है, तो डॉक्टर हमें पूनर्जन्म देता है

September 25th, 2018 14:42 IST

हाईलाइट

  • प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने रेडियो कार्यक्रम ''मन की बात'' के माध्यम से रविवार की सुबह देशवासियों को संबोधित किया।
  • पीएम नेयोग, खेल और डॉक्टर श्यामा प्रसाद मुखर्जी के बारे में चर्चा की।
  • पीएम मोदी के रेडियो कार्यक्रम ''मन की बात'' का यह 45वां संस्करण था।

डिजिटल डेस्क, नई दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने रेडियो कार्यक्रम ''मन की बात'' के माध्यम से रविवार की सुबह देशवासियों को संबोधित किया। पीएम ने अपने रेडियो कार्यक्रम में इस बार खास तौर पर योग, खेल और डॉक्टर श्यामा प्रसाद मुखर्जी के बारे में चर्चा की। पीएम मोदी ने सभी डॉक्टर साथियों को आगामी 1 जुलाई को आने वाले डॉक्टर्स डे की ढेरों शुभकामनाएं भी दीं। उन्होंने कहा कि मां हमें जन्म देती है, तो कई बार डॉक्टर हमें पूनर्जन्म देता है। बता दें कि पीएम मोदी के रेडियो कार्यक्रम ''मन की बात'' का यह 45वां संस्करण था। पीएम मोदी ने इससे पहले 27 मई को ''मन की बात'' कार्यक्रम के जरिए देशवासियों को संबोधित किया था।

पीएम ने श्यामा प्रसाद मुखर्जी को याद करते हुए कहा कि उन्होंने हमेशा अखंड भारत का सपना देखा। योग के बारे में बात करते हुए पीएम ने कहा कि योग अब राष्ट्र, जाति और धर्म की सीमाओं को तोड़कर सबको एक कर रहा है। वहीं पीएम मोदी ने GST को एक बार फिर देश के लिए महत्वपूर्ण सुधार बताया। उन्होंने कहा कि वन नेशन वन टैक्स एक सपना था, जो GST के जरिए पूरा हो सका है।

मन की बात कार्यक्रम में पीएम मोदी ने कहा....

  • देश के ईमानदार लोगों का उत्साह, देश की ईमानदारी का उत्सव, जनशक्ति की भागीदारी का नजीता है कि एक साल के भीतर-भीतर बहुत मात्रा में यह नई कर प्रणाली अपनी जगह बना चुकी है।
  • GST शायद दुनिया का सबसे बड़ा टैक्स रिफॉर्म्स होगा, भारत में इतना बड़ा टैक्स रिफॉर्म सफल इसलिए हो पाया, क्योंकि देश के लोगों ने इसे अपनाया।
  • GST काउंसिल में अब तक जितने निर्णय किए गए हैं, वे सारे के सारे सर्व सहमति से किए गए हैं।
  • अब तक GST काउंसिल की 27 मीटिंग्स हुई हैं।
  • वन नेशन वन टैक्स रिफॉर्म्स के लिए अगर मुझे सबसे ज्यादा किसी को क्रेडिट देनी है, तो मैं राज्यों को क्रेडिट देता हूं।
  • GST को एक साल पूरा होने वाला है। वन नेशन वन टैक्स देश के लोगों का सपना था, वह आज हकीकत में बदल चुका है।
  • मुझे खुशी है कि प्रफेशनल्स, टेक्नोक्रेट्स, इंजीनियरिंग की दुनिया से जुड़े नौवजवानों ने अपने दायरे से बाहर निकलकर किसान के साथ जुड़ना, गांव के साथ जुड़ना, खेत और खलिहान के साथ जुड़ने का रास्ता अपनाया है।
  • डॉक्टर मुखर्जी का सपना था कि भारत हर क्षेत्र में औद्योगिक रूप से आत्मनिर्भर हो।
  • बहुत कम लोग जानते होंगे कि 1937 में डॉक्टर श्यामा प्रसाद मुखर्जी के निमंत्रण पर गुरुदेव रविंद्रनाथ टैगोर ने कोलकाता विश्वविद्यालय में कन्वोकेशन को बांग्ला भाषा में संबोधित किया था।
  • बहुत कम लोगों को पता होगा कि डॉक्टर श्यामा प्रसाद मुखर्जी कोलकाता विश्वविद्यालय के सबसे कम उम्र के वाइस चांसलर थे।
  • डॉक्टर श्यामा प्रसाद मुखर्जी कई क्षेत्रों से जुड़े रहे, लेकिन जो क्षेत्र उनके सबसे करीब रहे, वे थे एजुकेशन, ऐडमिनिस्ट्रेशन और पार्लियामेंट्री अफेयर्स
  • पंजाब से जुड़ा एक और इतिहास है। 2019 में जलियांवाला बाग के उस भयावह घटना के भी 100 साल पूरे हो रहे हैं, जिसने पूरी मानवता को शर्मसार कर दिया था। 13 अप्रैल 1919 का वो काला दिन कौन भूल सकता है
  • 2019 में गुरुनानक देव का 550वां प्रकाश वर्ष मनाया जाएगा। मैं चाहता हूं कि सब लोग उत्साह और उमंग के साथ इससे जुड़ें
  • मन की बात के माध्यम से मैं सभी देशवासियों की तरफ से हमारे सभी डॉक्टर साथियों को आगामी 1 जुलाई को आने वाले डॉक्टर्स डे की ढेरों शुभकामनाएं देता हूं
  • हम वो लोग हैं जो स्वभावत: मां को भगवान के रूप में पूजते हैं, क्योंकि मां हमें जीवन देती है। मां हमें जन्म देती है, तो कई बार डॉक्टर हमें पूनर्जन्म देता है
  • हम मुसीबत के समय की डॉक्टरों को याद करते हैं, लेकिन डॉक्टर्स डे एक ऐसा दिन है जब देश हमारे डॉक्टर्स की उपलब्धियों को सेलिब्रेट करता है।
  • अहमदाबाद का एक दृश्य दिला को छू लेने वाला था। वहां लगभग 750 दिव्यांग भाई-बहनों ने एक स्थान पर एक साथ योगाभ्यास करके विश्व कीर्तिमान बना डाला।
  • वायुसेना के हमारे योद्धाओं ने बीच आसमान में धरती से पंद्रह हजार फीट की ऊंचाई पर योगासन करके सभी को स्तब्ध कर दिया।
  • योग सभी सीमाओं को तोड़कर जोड़ने का काम करता है।
  • 21 जून को विश्व योग दिवस पर पूरी दुनिया एकजुट नजर आई।
  • मुझे यह मैच विशेष कारण से याद रहेगा। भारतीय टीम ने ट्रॉफी लेते समय अफगानिस्तान की टीम को आमंत्रित किया और दोनों टीमों ने साथ में फोटो ली। स्पोर्ट्समैन शिप क्या होती है, इस एक घटना से महसूस कर सकते हैं।
  • अफगानिस्तान का पहला ऐतिहासिक टेस्ट मैच भारत के साथ होना हर भारतीय के लिए गर्व की बात।

मन की बात कार्यक्रम रेडियो के सभी नेटवर्कों, स्थानीय रेडियो स्टेशनों, एफ एम चैनलों और सामुदायिक रेडियो पर प्रसारित किया गया। दूरदर्शन और कुछ निजी टीवी चैनलों पर भी इसका प्रसारण किया जाता है। पीएम मोदी अपने इस कार्यक्रम के जरिए लोगों से कई मुद्दों पर बात करते हैं। साथ ही वो लोगों के सुझावों और उनके अनुभवों को भी शामिल करते हैं।

44वें संस्करण में बोले थे पीएम मोदी

इससे पहले 27 मई को पीएम मोदी ने ''मन की बात'' कार्यक्रम के जरिए देश को संबोधित किया था। मन की बात के 44वें संस्करण में देशवासियों को संबोधित करते हुए पीएम मोदी ने पर्यावरण और खेल से लेकर देश की विकास तक की बात की थी। 

विकास, एडवेंचर की गोद में जन्म लेता है 

इस दौरान पीएम मोदी ने ये भी कहा था कि अगर हम मानव जाति की विकास यात्रा देखें तो पायेंगे कि किसी-न-किसी एडवेंचर की कोख में ही प्रगति पैदा हुई है। विकास एडवेंचर की गोद में ही जन्म लेता है। कुछ लीक से हटकर कर गुजरने का इरादा, कुछ असाधारण करने का भाव, इनसे युगों तक, कोटि-कोटि लोगों को प्रेरणा मिलती रहती है।

2014 में पहली बार प्रसारित हुआ था मन की बात कार्यक्रम

गौरतलब है कि मन की बात कार्यक्रम का पहला प्रसारण 3 अक्टूबर 2014 को किया गया था। जनवरी 2015 में अमेरिका के तत्कालीन राष्ट्रपति बराक ओबामा ने भी पीएम मोदी के साथ इस कार्यक्रम में हिस्सा लिया था।

कमेंट करें
Qblem