दैनिक भास्कर हिंदी: मन की बात में बोले पीएम मोदी- एडवेंचर की गोद में जन्म लेता है ‘ विकास ’

May 27th, 2018

डिजिटल डेस्क, नई दिल्ली।  प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी आज ( 27 मई ) रेडियो के माध्यम से मन की बात कार्यक्रम को संबोधित किया। पीएम मोदी के रेडियो कार्यक्रम मन की बात का ये 44वां संस्करण है। कार्यक्रम के माध्यम से देशवासियों को संबोधित करते हुए पीएम मोदी ने पर्यावरण और खेल से लेकर देश की विकास तक की बात की। साथ ही पीएम मोदी ने सभी देशवासियों को आने वाले ईद के त्यौहार की शुभकामनाएं दीं। 

 

 

भारत के पहले प्रधानमंत्री पंडित जवाहरलाल नेहरु की पुण्यतिथि पर पीएम ने उन्हें याद किया।

 

 

 

मन की बात में बोले पीएम मोदी-

 

  • जब में फिट इंडिया की बात करता हूं तो मैं मानता हूं कि जितना हम खेलेंगे, उतना ही देश खेलेगा
     
  • परंपरागत खेलों में दोनों तरह के खेल हैं। आउटडोर और इनडोर। हमारे देश की विविधता के पीछे छिपी एकता इन खेलों में भी देखी जा सकती है
     
  • हमारी संस्कृति, परंपरा ने हमें प्रकृति के साथ संघर्ष करना नहीं सिखाया है। हमें प्रकृति के साथ सदभाव से रहना है, प्रकृति के साथ जुड़ करके रहना है। गांधी जी ने तो जीवन भर हर कदम इस बात की वकालत की थी

 

 

  • पारंपरिक खेल शारीरिक क्षमता के साथ-साथ हमारी लॉजिकल थिंकिंग, एकाग्रता, सजगता, स्फूर्ति को भी बढ़ावा देते हैं। खेल सिर्फ खेल नहीं होते हैं, वह जीवन के मूल्यों को सिखाते है।

 

 

  • देशवासियों से अपील करता हूं कि वे योग की अपनी विरासत को आगे बढ़ायें और एक स्वस्थ, खुशहाल और सद्भावपूर्ण राष्ट्र का निर्माण करें।

 

 

  • अगर हम मानव जाति की विकास यात्रा देखें तो पायेंगे कि किसी-न-किसी एडवेंचर की कोख में ही प्रगति पैदा हुई है। विकास एडवेंचर की गोद में ही जन्म लेता है। कुछ लीक से हटकर कर गुजरने का इरादा, कुछ असाधारण करने का भाव, इनसे युगों तक, कोटि-कोटि लोगों को प्रेरणा मिलती रहती है।
  • हम प्लास्टिक पॉल्यूशन के हमारी प्रकृति, वाइल्ड लाइफ और स्वास्थ्य पर पड़ रहे निगेटिव इंपेक्ट को कम करने का प्रयास करें।

 

 

गौरतलब है कि मन की बात कार्यक्रम आकाशवाणी पर प्रसारित किया किया जाता है। इस प्रोग्राम के जरिए भारत के प्रधानमंत्री मोदी देश के नागरिकों को संबोधित करते हैं। इस कार्यक्रम का पहला प्रसारण 3 अक्टूबर 2014 को किया गया था। जनवरी 2015 में अमेरिका के तत्कालीन राष्ट्रपति बराक ओबामा ने भी उनके साथ इस कार्यक्रम में हिस्सा लिया था।