दैनिक भास्कर हिंदी: राजीव ने कभी विशाल बहुमत का फायदा डर फैलाने के लिए नहीं किया - सोनिया गांधी

August 23rd, 2019

हाईलाइट

  • कांग्रेस प्रेसिडेंट सोनिया गांधी ने इशारों-इशारों में केंद्र की मोदी सरकार पर निशाना साधा
  • राजीव गांधी ने कभी विशाल बहुमत का फायदा डर फैलाने के लिए नहीं किया- सोनिया गांधी
  • राजीव गांधी की 75 वीं जयंती के अवसर पर एक कार्यक्रम के दौरान उन्होंने यह बात कही

डिजिटल डेस्क, नई दिल्ली। कांग्रेस प्रेसिडेंट सोनिया गांधी ने इशारों-इशारों में केंद्र की मोदी सरकार पर निशाना साधा। सोनिया ने कहा कि पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी को 1984 में बड़े पैमाने पर चुनावी जनादेश मिला था, लेकिन उन्होंने इसका इस्तेमाल डर का माहौल बनाने और संस्थानों को नष्ट करने के लिए नहीं किया।

राजीव गांधी की 75 वीं जयंती के अवसर पर एक कार्यक्रम को संबोधित करते हुए, उन्होंने यह भी कहा कि पूर्व प्रधानमंत्री ने संस्थानों की स्वतंत्रता को नष्ट करने, अलग-अलग विचारों को रौंदने और लोकतांत्रिक परंपराओं के लिए खतरे पैदा करने के लिए उस शक्ति का उपयोग नहीं किया। उन्होंने कहा, 1989 में, कांग्रेस को अपने दम पर बहुमत नहीं मिला, इसलिए उन्होंने (राजीव गांधी) ने विनम्रता से जनता का मैंडेट स्वीकार किया।

सोनिया गांधी ने कहा, 'मैं वर्तमान पीढ़ी को बताना चाहती हूं कि (कांग्रेस) उस समय सबसे बड़ी राजनीतिक पार्टी होने के बावजूद, सरकार बनाने का दावा पेश नहीं किया। यह इसलिए था क्योंकि उनकी आंतरिक नैतिक शक्ति और ईमानदारी ने उन्हें ऐसा करने की अनुमति नहीं दी।'

उन्होंने कहा, नियति ने 28 साल पहले राजीव गांधी को बर्बरता से हमसे छीन लिया, मगर उनकी यादें, उनकी सोच आज भी हमारे साथ है। वह एक मजबूत और आत्मनिर्भर भारत का निर्माण करना चाहते थे। एक ऐसा भारत जिसके नागरिकों को सम्मानजनक जीवन जीने को मिलता है, एक ऐसा भारत जो युवाओं की ऊर्जा पर आगे बढ़ता है। उनकी कल्पना का भारत अनेकता और एकता को एक साथ रखने वाला भारत था।

सोनिया गांधी ने कहा, उन्होंने (राजीव गांधी) भारत को मौलिक रूप से मजबूत बनाया। यह उनकी प्रतिबद्धता थी कि युवाओं को 18 वर्ष की आयु में मतदान का अधिकार मिले और पंचायतें मजबूत हों। उन्होंने कहा राजीव गांधी ने खेती में भी विज्ञान और तकनीक का उपयोग करके देश को सशक्त बनाया। उन्होंने हमेशा राष्ट्रीय हित को ध्यान में रखा और असम, पंजाब, त्रिपुरा, मिजोरम में कई अग्रीमेंट किए।

सोनिया गांधा ने कहा, '1986 में राजीव गांधी जी ने शिक्षा नीति लाकर देश की शिक्षा को नई दिशा दी। उनके द्वारा स्थापित जवाहर नवोदय विद्यालय आज देश का गौरव हैं, जहां असंख्य ग्रामीण बच्चे शिक्षा ग्रहण कर रहे हैं। उन्होंने कहा, राजीव जी ने कभी भी लोकतंत्र के लिए खतरा पैदा नहीं किया, उन्होंने कभी भी जनता की राय को दबाया नहीं। उनकी नैतिकता और ईमानदारी ने हमेशा उन्हें प्रेरित किया।