comScore

सीएम योगी के गृह जिले के अस्पताल में नाबालिग की अस्मत पर वार

June 25th, 2018 12:01 IST
सीएम योगी के गृह जिले के अस्पताल में नाबालिग की अस्मत पर वार

डिजिटल डेस्क, गोरखपुर। उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के शहर गोरखपुर का सरकारी अस्पताल बीरआडी (बाबा राघव दास) अस्पताल एक बार फिर सुर्खियों में है। इस बार अस्पताल के सुर्खियों में रहने की वजह यहां पर एक नाबालिग से रेप की कोशिश होना है। ये वही बीआरडी अस्पताल है जिसमें पिछले साल ऑक्सीजन की कमी से बच्चों की मौत हुई थी। इसके अलावा इंसेफ्लाइटिस से बच्चों की मौत को लेकर भी ये अस्पताल खासा चर्चाओं में रहा था। 

Image result for rape

नौकरी का झांसा देकर रेप की कोशिश 

जिस नाबालिग के साथ रेप की कोशिश हुई है वो यूपी के बलरामपुर की रहने वाली है और घरवालों से नाराज होकर वो एक हफ्ते पहले ही लखनऊ पहुंची थी। इसी दौरान नाबालिग एक महिला के संपर्क में आई जिसने उसे नौकरी का झांसा देकर गोरखपुर बुलाया। महिला ने खुद को बीआरडी अस्पताल की नर्स बताया था। नाबालिग महिला से मिलने के लिए अस्पताल पहुंची थी इसी दौरान रात को जब नाबालिग ने फोन चार्ज करने की बात कही तो महिला ने उसे दो तीन पुरुषों के साथ छत पर भेज दिया। छत पर उन लोगों ने नाबालिग के साथ ज्यादती करने की कोशिश की। नाबालिग किसी तरह अपनी इज्जत बचाकर नग्न अवस्था में ही नीचे भागी और शोर मचाया। नाबालिग की चीख सुनकर अस्पताल में मौजूद लोग जमा हो गए और लोगों ने चादर से उसे ढंका। बाद में नाबालिग ने पूरी घटना की शिकायत पुलिस में दर्ज कराई जिसके आधार पर पुलिस ने मामला दर्ज कर आरोपियों की तलाश शुरु कर दी है। महज 15 साल की इस नाबालिग के साथ हुई इस घटना के लोग सकते में हैं और बीआरडी अस्पताल एक बार फिर सुर्खियों में आ गया है। 


 


पुलिस के हाथ अब भी खाली 

नाबालिग के साथ रेप की कोशिश का ये मामला शनिवार रात का है लेकिन मामले में अभी तक पुलिस किसी आरोपी को गिरफ्तार नहीं कर पाई है। पुलिस पीड़िता के मोबाइल काल डिटेल और सीडीआर से आरोपियों तक पहुंचने की कोशिश कर रही है। मामले में एक और हैरान कर देने वाली बात ये भी है कि वारदात के 36 घंटों बाद भी पुलिस पीड़िता का मेडिकल चैकअप नहीं करा पाई। 

कमेंट करें
eQB3q