दैनिक भास्कर हिंदी: मालाबार नौसैनिक अभ्यास का दूसरा चरण मंगलवार से

November 16th, 2020

हाईलाइट

  • मालाबार नौसैनिक अभ्यास का दूसरा चरण मंगलवार से

नई दिल्ली, 16 नवंबर (आईएएनएस)। उत्तरी अरब सागर में विमान वाहक युद्धक समूहों के साथ मालाबार अभ्यास के दूसरे चरण के लिए भारत, ऑस्ट्रेलिया, जापान और अमेरिका तैयार हैं। अभ्यास की शुरुआत मंगलवार से हो रही है।

यह हिंद महासागर क्षेत्र में मालाबार अभ्यास का दूसरा चरण है। अभ्यास 17 नवंबर से 20 नवंबर तक आयोजित किया जाएगा।

अभ्यास के माध्यम से समुद्री मुद्दों पर चार देशों के बीच विचारों के सम्मिलन को उजागर किया जाएगा और एक खुले, समावेशी इंडो-पैसिफिक और नियम-आधारित अंतर्राष्ट्रीय आदेश के लिए उनकी प्रतिबद्धता को प्रदर्शित किया जाएगा।

इस अभ्यास के दौरान भारतीय नौसेना के विक्रमादित्य कैरियर बैटल ग्रुप और यूएस नेवी के निमित्ज कैरियर स्ट्राइक ग्रुप के आसपास केंद्रित संयुक्त ऑपरेशन को आयोजित किया जाएगा।

दोनों पोत, अन्य जहाजों, पनडुब्बी और भाग लेने वाले नौसेना के विमानों के साथ, चार दिनों तक उच्च तीव्रता वाले नौसेना संचालन में लगे रहेंगे।

कमांडर विवेक मधवाल ने आईएएनएस को बताया, इन अभ्यासों में विक्रमादित्य के एमआईजी 29 के फाइटर्स और निमित्ज के एफ -18 हॉकेये द्वारा क्रॉस-डेक उड़ान संचालन और एडवांस वायु रक्षा अभ्यास शामिल हैं।

इसके अलावा एडवांस सतह और पनडुब्बी रोधी युद्ध अभ्यास, सीमन्सशिप इवोल्यूशन और हथियार फायरिंग भी चार अनुकूल नौसेनाओं के बीच अंतर-संचालन और तालमेल को आगे बढ़ाने के लिए आयोजित किए जाएंगे।

विक्रमादित्य और इसके लड़ाकू और हेलीकॉप्टर एयर-विंग्स, स्वदेशी विध्वंसक कोलकाता और चेन्नई के अलावा स्टील्थ फ्रिगेट तलवार, फ्लीट सपोर्ट शिप दीपक और इंटीग्रल हेलीकॉप्टर भी अभ्यास में भाग लेंगे, जिसकी अगुवाई फ्लैग ऑफिसर कमांडिंग वेस्टर्न फ्लीट रियर एडिशनल कृष्णा स्वामीनाथन करेंगे।

ऑफिसर ने कहा, भारतीय नौसेना के स्वदेशी निर्मित पनडुब्बी खांदेरी और पी8आई समुद्री टोही विमान भी अभ्यास के दौरान अपनी क्षमताओं का प्रदर्शन करेंगे।

यूएस नेवी की स्ट्राइक कैरियर निमित्ज पी 8ए समुद्री टोही विमान के अलावा क्रूजर प्रिंसटन और विध्वंसक स्टेरेट के साथ होगी।

वहीं रॉयल ऑस्ट्रेलियन नेवी अपने हेलीकॉप्टर के साथ-साथ फ्रिगेट बैलरेट के साथ प्रतिनिधित्व करेगी। जापान मैरीटाइम सेल्फ डिफेंस फोर्स भी अभ्यास में भाग लेगी।

गौरतलब है कि इससे पहले 3 नवंबर से 6 नवंबर तक बंगाल की खाड़ी में मालाबार अभ्यास का पहला चरण आयोजित किया गया था।

एमएनएस/एसजीके