दैनिक भास्कर हिंदी: सुरक्षाकर्मियों को मिलेंगी बीआईएस मानक की हल्की बुलेटप्रूफ जैकेट

October 4th, 2019

नई दिल्ली, 4 अक्टूबर (आईएएनएस)। देश के सैनिकों और पुलिसकर्मियों को अब पहले से हल्की स्वदेश निर्मित बुलेटप्रूफ जैकेट मिलेगी। यह जैकेट एके-47 जैसी असॉल्ट राइफल के हमलों से सुरक्षाकर्मियों की रक्षा करने में पूरी तरह से सक्षम है।

मेक इन इंडिया पहल के अंतर्गत देश की सरकारी एवं निजी कंपनियां पहली बार देश में भारतीय मानक ब्यूरो (बीआईएस) के अनुसार बुलेटप्रूफ जैकेट बना रही हैं।

बीआईएस के अधिकारिक सूत्र ने बताया कि उत्तर प्रदेश के कानपुर और तमिलनाडु के अवाडी स्थित फैक्ट्रियों में यह बुलेटप्रूफ जैकेट बनाई जा रही हैं।

पहले बुलेटप्रूफ जैकेट में लोहे का उपयोग होता था, जिसके कारण इस का भार 20 किलोग्राम तक का होता था, लेकिन बीआईएस मानक के आधार पर बनाई जा रही इन बुलेटप्रूफ जैकेट में उच्च गुणवत्ता के मिश्रित धातु का उपयोग किया गया है, इसलिए यह पहले से हल्की और वजन में 10 किलोग्राम तक है।

इसमें लोड डिस्ट्रीब्यूशन सिस्टम (हथियार से जुड़े सामान और गोलियों को रखने की जगह) भी लगाया गया है।

गौरतलब है कि पहले बुलेटप्रूफ जैकेट के लिए कोई मानक नहीं होने के कारण देश के सुरक्षाबलों के लिए विदेशों से भी बुलेटप्रूफ जैकेट खरीदना मुश्किल होता था। लेकिन अब बीआईएस मानकों के आधार पर बनाए जा रहे यह बुलेटप्रूफ जैकेट, भारत दुनिया के सौ से अधिक देशों को निर्यात करने लगा है।