नई दिल्ली : ममता से सुब्रमण्यम स्वामी ने की मुलाकात, सियासत हुई तेज

November 24th, 2021

हाईलाइट

  • ममता से स्वामी की मुलाकात, निकाले जा रहे कई मायने
  • पीएम मोदी से आज ममता बनर्जी करेंगी मुलाकात

डिजिटल डेस्क, नई दिल्ली। भारतीय जनता पार्टी के सांसद सुब्रमण्यम स्वामी ने टीएमसी अध्यक्ष और पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी से मुलाकात की है। उसके बाद से राजनीतिक गलियारों में हलचल तेज हो गई है। आपको बता दें कि सुब्रमण्यम स्वामी अक्सर अपने बयानों को लेकर सुर्खियों में रहते हैं। इनको भाजपा का सबसे असंतुष्ट नेता माना जाता हैं। बता दें कि बुधवार को इन दोनो नेताओं के बीच मुलाकात दिल्ली स्थित एवेन्यू में हुई थी। 

करीब 20-25 मिनट तक चली मुलाकात

आपको बता दें कि बीजेपी सांसद सुब्रमण्यम स्वामी ममता बनर्जी से मुलाकात करने साउथ एवेन्यू पहुंचे थे। यहां उनकी करीब 20-25 मिनट तक ममता बनर्जी से बातचीत हुई थी। ममता बनर्जी से मुलाकात के बाद स्वामी ने तृणमूल कांग्रेस में शामिल होने के सवाल पर जवाब देते हुए कहा मैं तो आलरेडी जॉइंड हूं। मैं तो सभी समय उनके साथ हूं हालांकि, इसके बाद उन्होंने साफ जवाब नहीं दिया।

पीएम मोदी से ममता ने की मुलाकात

आपको बता दें कि पश्चिम बंगाल की सीएम ममता बनर्जी आज पीएम मोदी से भी मुलाकात की। ममता और पीएम मोदी से करीब 30 मिनट तक विभिन्न मुद्दों पर बात हुई थी। ममता की पीएम मोदी से मुलाकात में सीमा सुरक्षा बल का अधिकार क्षेत्र बढ़ाये जाने तथा त्रिपुरा हिंसा में हो रहे अत्याचारों के मुद्दे पर चर्चा हुई। ममता बनर्जी ने मीडिया से बातचीत में कहा कि मैंने पीएम मोदी से राज्य के विभिन्न मुद्दों पर बात की तथा राज्य में बीएसएफ के बढ़े क्षेत्राधिकार को हटाने की मांग की हूं। 

स्वामी ने कई बार पार्टी को असहज किया

आपको बता दें की बीजेपी सांसद स्वामी ने कई बार अपने बयानों से पार्टी को असहज किया है। ये उन नेताओं में से है, जो अपनी ही पार्टी के खिलाफ आलोचनाओं से भी नहीं डरते हैं। गौरतलब है कि कुछ दिन पहले ममता बनर्जी की रोम यात्रा रद्द होने पर बीजेपी के राज्यसभा सांसद स्वामी ने मोदी सरकार के फैसले पर सवाल उठाते हुए पूछा था कि ममता बनर्जी क्यों रोम जाने से रोका गया है। सुब्रमण्यम स्वामी लगातार बीजेपी सरकार पर निशाना साधते रहते हैं। कई बार वह आर्थिक मसलों पर पीएम मोदी को घेर चुके हैं। हालांकि बीजेपी इनके बयानों को गंभीरता से नहीं लेती है, इसके पीछे का कारण अभी तक स्पष्ट नहीं है।

खबरें और भी हैं...