दैनिक भास्कर हिंदी: SC की LG अनिल बैजल को फटकार- खुद को सुपरमैन कहते हैं, करते कुछ नहीं

July 12th, 2018

हाईलाइट

  • कूड़ा निस्तारण मामले में SC ने लेफ्टनेंट गवर्नर अनिल बैजल को लगाई फटकार।
  • आप (एलजी) कहते हैं, मेरे पास शक्ति है। मैं सुपरमैन हूं। लेकिन आप कुछ करते नहीं।
  • 25 बैठक करते हैं या 50 कप चाय पीते हैं, इससे हमें मतलब नहीं है। आपको ये बताना है कि कूड़े के पहाड़ कब हटेंगे।

डिजिटल डेस्क, नई दिल्ली। दिल्ली में कूड़ा निस्तारण के मुद्दे पर सुप्रीम कोर्ट (SC) ने लेफ्टिनेंट गवर्नर अनिल बैजल को फटकार लगाई है। सुप्रीम कोर्ट ने LG को कूड़ा निस्तारण के मुद्दे पर महत्वपूर्ण बैठकों में भाग नहीं लेने के लिए तीखी टिप्पणी करते हुए कहा, "आप (एलजी) कहते हैं, मेरे पास शक्ति है। मैं सुपरमैन हूं, लेकिन आप कुछ करते नहीं।" SC ने उप राज्यपाल से सख्त लहजे में पूछा कि राजधानी में कूड़ा प्रबंधन के लिए कौन जिम्मेदार है?

 

 

सिंपल अंग्रेजी में बताए कूड़े के पहाड़ कब हटेंगे?
सुप्रीम कोर्ट में दायर हलफनामे में एलजी की तरफ से कहा गया, दिल्ली में कचरा प्रबंधन के लिए निगम जिम्मेदार है, हम इसपर लगातार बैठक कर रहे हैं। उन्होंने इसके लिए आर्टिकल 239AA का हवाला दिया। हालांकि इस सब दलीलों से सुप्रीम कोर्ट संतुष्ट नहीं दिखा। सुप्रीम कोर्ट ने कहा आप 25 बैठक करते हैं या 50 कप चाय पीते हैं, इससे हमें मतलब नहीं है आप एलजी हैं, आपने बैठक की है इसलिए हमें टाइमलाइन और स्टेटस रिपोर्ट दें। सुप्रीम कोर्ट ने कहा कि हर मामले में मुख्यमंत्री को मत घसीटिए, आपको सिंपल अंग्रेजी में ये बताना है कि कूड़े के पहाड़ कब हटेंगे। सुप्रीम कोर्ट ने 16 जुलाई तक का टाइम LG को दिया है।  

 

 

हर जगह बदइंतजामी है
कोर्ट ने गाजीपुर, ओखला और भिलस्वा लैंडफिल में कुडों के पहाड़ का जिक्र करते हुए कहा कि LG कार्यालय सहित सभी संबंधित अथॉरिटी द्वारा कोई कदम नहीं उठाया गया है जिसके कारण दिल्ली के लोगों को गंभीर समस्या का सामना करना पड़ रहा है। गौरतलब है कि मंगलवार को जस्टिस मदन भीमराव लोकुर की अगुवाई वाली पीठ ने नाराज़गी भरे लहजे में कहा था कि हर जगह बदइंतजामी है। दिल्ली कचरे के पहाड़ के नीचे दबी जा रही है और मुंबई पानी में डूब रहा है, लेकिन सरकारें कुछ नहीं कर रही हैं। कूड़ा प्रबंधन में लापरवाही की वजह से डेंगू, चिकनगुनिया, मलेरिया वगैरह फैलते हैं।