दैनिक भास्कर हिंदी: सुशील मोदी का लालू एंड फैमिली पर तंज, तेजस्वी ने दिया ऐसा जवाब

December 10th, 2017

डिजिटल डेस्क, पटना। बिहार के उपमुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी ने लालू पर एक तंज कसा है। जिसमें उन्होंने कहा कि लालू एंड फैमिली पूछताछ के लिए जाने से कतरा रही है। सुशील मोदी ने कहा कि जब उन्होंने लालू की इस बेनामी संपत्ति का खुलासा किया था तो लालू ने सवाल उठाया था कि आखिर कहां इस केस के सिलसिले में उनके ठिकानों पर छापेमारी हुई है? उन्होंने कहा कि लालू और उनके परिवार पर चार्जशीट दाखिल होगी और उन्हें सजा भी मिलेगी। बता दें कि लालू यादव और उनके बच्चों पर बेनामी संपति अर्जित करने और रेलवे टेंडर घोटाले का आरोप है। जिसके तहत पटना में स्थित 45 करोड़ के 3 एकड़ जमीन को प्रवर्तन निदेशालय द्वारा कुर्क किए जाने की कार्रवाई की गई।

 

 

सुशील मोदी बोले कि जांच एजेंसियों द्वारा छापेमारी किए जाने के बाद भी लालू की यह दलील थी कि क्या कोई एफआईआर दर्ज हुई है। मोदी ने कहा कि गिरफ्तारी के डर से लालू और उनकी फैमिली जांच एजेंसियों के सामने पेश हुई। लालू परिवार के खिलाफ ईडी, आईटी, सीबीआई के पास इतने पुख्ता सबूत हैं कि केवल चार्जशीट दाखिल ही नहीं होगी, बल्कि सभी पूरे परिवार को जेल की हवा भी खानी पड़ेगी।  


दरअसल पूर्व उपमुख्यमंत्री तेजस्वी यादव ने सुशील मोदी से सवाल किया था कि आखिर संपत्ति कुर्की के बाद चार्जशीट दायर क्यों नहीं हुई है। इस पर उनका जवाब था कि तेजस्वी यादव को पहले यह बताना चाहिए कि बिना कोई काम किए उनके पास इतनी संपत्ति कैसे आई कि 28 साल की उम्र में 3 एकड़ जमीन पर 750 करोड़ का बिहार का सबसे बड़ा मॉल बनवाने लगे। कैसे वह उसके मालिक बन गए?

 

मांसाहार छोड़ने से नहीं दूर होगा संकट 

सुशील मोदी ने पुराना खुलासा करते हुए कहा कि हकीकत कुछ और ही है। जब लालू प्रसाद रेलमंत्री हुआ करते थे तब रेलवे के दो होटलों के एवज में कोचर बंधुओं से वह जमीन प्रेमचन्द्र गुप्ता की कंपनी डिलाइट मार्केटिंग के नाम पर लिखवा ली गई। इसके बाद मात्र चार लाख रुपए की पूंजी लगाकर राबड़ी देवी और तेजस्वी यादव के नाम कर दिया गया।  
 

उन्होंने सवाल उठाते हुए कहा कि आखिर प्रेम चन्द्र गुप्ता ने शहर के प्राइम लोकेशन की करोड़ों की जमीन और कंपनी कैसे लालू की फैमिली को सौंप दी। अगर इस बात का जवाब तेजस्वी के पास होता तो उन्हें कुर्सी छोड़ने के लिए मजबूर नहीं होना पड़ता। बता दें कि लालू यादव इन दिनों मांसाहार छोड़ चुके हैं। इस पर सुशील मोदी ने कमेंट किया कि केवल मांसाहार छोड़ने से संकट दूर होने वाले नहीं हैं। ऐसा करने से गलत आदतें नहीं छूट जाती हैं। 


 

वह पूर्व डिप्टी सीएम तेजस्वी यादव ने ट्वीट कर सुशील कुमार मोदी पर तीखा वार किया है। तेजस्वी ने अपने ट्वीट में लिखा है, जिन कागजों को सबूत बता-बता सुशील मोदी किलकारी मार रहे हैं और प्रेस वार्ता कर रहे हैं।  


 
तेजस्वी यादव ने एक और ट्वीट करते हुए लिखा कि "चोर दरवाजे से डिप्टी सीएम बने सुशील मोदी प्रमाण के साथ जिसे 700 करोड़ की संपत्ति बता सनसनी फैलाने की कोशिश कर रहे थे, उसे इनकी जेबी सरकारी एजेंसी ने मात्र 45 करोड़ का बताया। अब ये अफवाह मियां अपने सफेद झूठ पर काले कपड़े से मुंह छुपाये क्यों घुम रहे है?

सुशील मोदी झूठ और भ्रम फैलाने में मास्टर हैं, वे ऐसे गिरोह के सबसे बड़े सरगना है। ये पूर्वी भारत के झूठ के सबसे बड़े ठेकेदार हैं।