दैनिक भास्कर हिंदी: जेल में लालू को जान का खतरा बताने वाले तेजस्वी के बयान पर सुशील मोदी ने दिया मजेदार जवाब

March 25th, 2018

डिजिटल डेस्क, नई दिल्ली। बिहार के बहुचर्चित चारा घोटाले से जुड़े दुमका ट्रेजरी केस में CBI कोर्ट ने 14 साल की कैद और 60 लाख जुर्माना देने की सजा सुनाई है। दुमका ट्रेजरी केस में लालू को अलग-अलग धाराओं के तहत 7-7 साल की सजा और 30-30 लाख रुपए का जुर्माना लगाया है। दोनों सजाएं अलग अलग चलेंगी। लालू को सजा के ऐलान के ठीक बाद उनके बेटे तेजस्वी यादव ने बीजेपी पर सनसनीखेज आरोप लगाए थे। तेजस्वी ने कहा था कि जेल में उनके पिता को जान का खतरा है, बीजेपी किसी भी हद तक जा सकती है। अब उनकी इस टिप्पणी पर बिहार के उपमुख्यमंत्री सुशील मोदी ने प्रतिक्रिया दी है। उन्होंने कहा है कि लालू को यदी जेल में जान का खतरा है तो उन्हें लालकिले में बंद कर देना चाहिए।

सुशील मोदी ने एक टेलीविजन चैनल को दिए इंटरव्यू में कहा, 'तेजस्वी के पास बीजेपी को कोसने के सिवाय कुछ नहीं बचा है। CBI की रेड हो या ED की वे हमेशा ये ही कहते हैं कि BJP का षड़यंत्र है।' उन्होंने कहा, 'लालू यादव को मिली सजा से राजद नेताओं समेत तमाम नौकरशाहों को सबक लेना चाहिए कि अगर वे भ्रष्टाचार में शामिल रहे हैं तो वे कभी बच नहीं पाएंगे। कानून कभी न कभी उन्हें सजा दिला ही देगा।'

इससे ठीक पहले सुशील मोदी ने यह भी कहा था, 'पूर्व मुख्यमंत्री को किस खतरे का डर सता रहा है। अगर कोई व्यक्ति पुलिस कस्टडी में है और उसे अपनी जान का खतरा है तो उसे कोर्ट जाकर अपील करनी चाहिए।'

बता दें कि दुमका ट्रेजरी केस 3 करोड़ 13 लाख रुपए की अवैध निकासी से जुड़ा हुआ है और इस मामले में 31 लोगों को आरोपी बनाया गया था, जिनमें से जगन्नाथ मिश्रा समेत 12 लोगों को कोर्ट ने बरी कर दिया है। वहीं लालू समेत 19 लोगों को सजा सुनाई गई है।