comScore

© Copyright 2019-20 : Bhaskarhindi.com. All Rights Reserved.

मप्र में फिर शुरू हुई प्रतिभाशाली विद्यार्थी प्रोत्साहन योजना

September 26th, 2020 12:13 IST
मप्र में फिर शुरू हुई प्रतिभाशाली विद्यार्थी प्रोत्साहन योजना

हाईलाइट

  • मप्र में फिर शुरू हुई प्रतिभाशाली विद्यार्थी प्रोत्साहन योजना

डिजिटल डेस्क, भोपाल। मध्य प्रदेश की प्रतिभाशाली विद्यार्थी प्रोत्साहन योजना के तहत 16 हजार से प्रतिभावान विद्यार्थियों के खातों में मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने सिंगल क्लिक के जरिए लैपटॉप खरीदने करने के लिए साढ़े 40 करोड़ से ज्यादा की राशि अंतरित की। इस वर्ष कुल 40 हजार 542 विद्यार्थियों को प्रोत्साहन राशि दी जानी है। इस योजना में प्रति विद्यार्थी 25 हजार रुपये की राशि का प्रावधान है।

राजधानी के मिंटो हॉल में शुक्रवार को आयोजित समारोह में मुख्यमंत्री चौहान ने राशि अंतरित करते हुए छात्र-छात्राओं से कहा कि जीवन में आगे बढ़ने के लिए हर संभव कोशिश करें। राज्य सरकार हर कदम पर उनके साथ है। मुख्यमंत्री चौहान ने आगे कहा कि यह योजना बंद कर दी गई थी। पं़ दीनदयाल उपाध्याय के जन्म दिवस के अवसर पर छात्रों को प्रोत्साहन देने, हौसला बढ़ाने और प्रतिस्पर्धी भाव पैदा करने वाली यह योजना फिर शुरू की जा रही है। कोविड-19 के कारण विद्यार्थियों को यह प्रोत्साहन वर्चुअल आधार पर दिया जा रहा है।

मुख्यमंत्री चौहान द्वारा प्रतिभाशाली विद्यार्थी प्रोत्साहन योजना के अंतर्गत मेधावी विद्यार्थियों को लैपटॉप खरीदने के लिए 16 हजार 208 विद्यार्थियों के खाते में 25 हजार रुपये प्रति छात्र के हिसाब से 40 करोड़ 52 लाख रुपये सिंगल क्लिक द्वारा अंतरित किए गए। इस योजना के तहत वर्तमान वर्ष 40 हजार 542 विद्यार्थियों को 101 करोड़ रूपये की राशि प्रदान की जानी है। मुख्यमंत्री चौहान ने मिंटो हाल में भोपाल के छह विद्यार्थियों को प्रशस्ति पत्र और चेक प्रदान किए। स्कूल शिक्षा मंत्री इंदरसिंह परमार ने योजना को पुन आरंभ करने पर मुख्यमंत्री का आभार जताया।

उल्लेखनीय है कि प्रतिभाशाली विद्यार्थी प्रोत्साहन योजना 2009 में आरंभ हुई थी। प्रारंभ में माध्यमिक शिक्षा मंडल की कक्षा 12वीं की परीक्षा में 85 प्रतिशत से अधिक अंक हासिल करने वाले शासकीय स्कूलों के विद्यार्थियों को लैपटॉप लेने के लिए राशि प्रदान की जाती थी। वर्ष 2013 से अशासकीय विद्यार्थियों को भी इस योजना का लाभ प्रदान किया जाने लगा। इस बार वर्ष 2020 की कक्षा 12वीं की परीक्षा में 80 प्रतिशत तथा उससे अधिक अंक हासिल करने वाले कुल 40 हजार 542 विद्यार्थियों को 25 हजार प्रति विद्यार्थी के हिसाब से 101 करोड़ रुपये से अधिक की राशि प्रदान की जानी है।

कमेंट करें
5PShd
कमेंट पढ़े
Ritik kumar September 28th, 2020 10:36 IST

Main iss sal 12th me tha aur main St Hun Mera 82.4 present aye hain kya mujhe laptop mil sakta hai.

NEXT STORY

Real Estate: खरीदना चाहते हैं अपने सपनों का घर तो रखे इन बातों का ध्यान, भास्कर प्रॉपर्टी करेगा मदद

Real Estate: खरीदना चाहते हैं अपने सपनों का घर तो रखे इन बातों का ध्यान, भास्कर प्रॉपर्टी करेगा मदद

डिजिटल डेस्क, जबलपुर। किसी के लिए भी प्रॉपर्टी खरीदना जीवन के महत्वपूर्ण कामों में से एक होता है। आप सारी जमा पूंजी और कर्ज लेकर अपने सपनों के घर को खरीदते हैं। इसलिए यह जरूरी है कि इसमें इतनी ही सावधानी बरती जाय जिससे कि आपकी मेहनत की कमाई को कोई चट ना कर सके। प्रॉपर्टी की कोई भी डील करने से पहले पूरा रिसर्च वर्क होना चाहिए। हर कागजात को सावधानी से चेक करने के बाद ही डील पर आगे बढ़ना चाहिए। हालांकि कई बार हमें मालूम नहीं होता कि सही और सटीक जानकारी कहा से मिलेगी। इसमें bhaskarproperty.com आपकी मदद कर सकता  है। 

जानिए भास्कर प्रॉपर्टी के बारे में:
भास्कर प्रॉपर्टी ऑनलाइन रियल एस्टेट स्पेस में तेजी से आगे बढ़ने वाली कंपनी हैं, जो आपके सपनों के घर की तलाश को आसान बनाती है। एक बेहतर अनुभव देने और आपको फर्जी लिस्टिंग और अंतहीन साइट विजिट से मुक्त कराने के मकसद से ही इस प्लेटफॉर्म को डेवलप किया गया है। हमारी बेहतरीन टीम की रिसर्च और मेहनत से हमने कई सारे प्रॉपर्टी से जुड़े रिकॉर्ड को इकट्ठा किया है। आपकी सुविधाओं को ध्यान में रखकर बनाए गए इस प्लेटफॉर्म से आपके समय की भी बचत होगी। यहां आपको सभी रेंज की प्रॉपर्टी लिस्टिंग मिलेगी, खास तौर पर जबलपुर की प्रॉपर्टीज से जुड़ी लिस्टिंग्स। ऐसे में अगर आप जबलपुर में प्रॉपर्टी खरीदने का प्लान बना रहे हैं और सही और सटीक जानकारी चाहते हैं तो भास्कर प्रॉपर्टी की वेबसाइट पर विजिट कर सकते हैं।

ध्यान रखें की प्रॉपर्टी RERA अप्रूव्ड हो 
कोई भी प्रॉपर्टी खरीदने से पहले इस बात का ध्यान रखे कि वो भारतीय रियल एस्टेट इंडस्ट्री के रेगुलेटर RERA से अप्रूव्ड हो। रियल एस्टेट रेगुलेशन एंड डेवेलपमेंट एक्ट, 2016 (RERA) को भारतीय संसद ने पास किया था। RERA का मकसद प्रॉपर्टी खरीदारों के हितों की रक्षा करना और रियल एस्टेट सेक्टर में निवेश को बढ़ावा देना है। राज्य सभा ने RERA को 10 मार्च और लोकसभा ने 15 मार्च, 2016 को किया था। 1 मई, 2016 को यह लागू हो गया। 92 में से 59 सेक्शंस 1 मई, 2016 और बाकी 1 मई, 2017 को अस्तित्व में आए। 6 महीने के भीतर केंद्र व राज्य सरकारों को अपने नियमों को केंद्रीय कानून के तहत नोटिफाई करना था।