दैनिक भास्कर हिंदी: CM बनते ही तीरथ ने दिए थे कुछ ऐसे बयान, जिन पर हुआ विवाद

July 3rd, 2021

हाईलाइट

  • 4 महीने में तीरथ ने दिए 4 बड़े विवादित बयान
  • विवादित बयान बने तीरथ की मुसीबत

डिजिटल डेस्क, देहरादून। उत्तराखंड का सीएम बनने के महज 115 दिन बाद तीरथ सिंह को ये पद छोड़ना पड़ रहा है. मुख्यमंत्री की कुर्सी पर रहने के चार महीने के दरम्यान तीरथ सिंह ने चार ऐसे बयान दिए जिस पर वो बुरी तरह विवादों में घिरे. फिर या तो बयान से पलटना पड़ा या माफी मांगनी पड़ी. जानिए वो चार बयान जिस पर घिरे तीरथ.
बयान 01
तीरथ सिंह फटी जींस के फैशन पर सवाल उठाया. एक कार्यक्रम में तीरथ ने कहा ‘महिलाएं इन दिनो फटी जींस पहनने लगी हैं. जिसमें से घुटने नजर आते हैं. ये कैसा संस्कार है और कहां से आया है. इस तरह के कपड़े पहन कर महिलाएं क्या संदेश देना चाहती हैं.’
तीरथ के इस बयान पर जम कर बवाल हुआ. आम महिलाओं से लेकर बॉलीवुड सेलिब्रेटीज और राजनेताओं ने भी तीरथ क इस बयान की आलोचना शुरू कर दी.  
बयान-02
हरिद्वार में नेत्र कुंभ के दौरान तीरथ सिंह ने पीएम नरेंद्र मोदी की तुलना भगवान राम से ही कर डाली. तीरथ ने कहा कि भगवान राम भी समाज के लिए ही काम करते थे इसलिए लोग उन्हें भगवान मानने लगे थे. अब वही काम पीएम कर रहे हैं. इस बयान पर भी बवाल हुआ. कांग्रेस नेता हरीश रावत ने कहा कि इस पर हंसा जा सकता है. राम और कृष्म हमारे वेदों ने भगवान का स्वरूप माना है. मोदी जी खुद ये पसंद नहीं करेंगे कि उन्हें भगवान माना जाए.
बयान-03 
रामनगर में आयोजित एक कार्यक्रम में तीरथ ने ज्यादा बच्चे पैदा करने की पैरवी कर डाली. तीरथ ने कहा कि जिन लोगों ने ज्यादा बच्चे पैदा किए उन्हें लॉकडाउन में ज्यादा राशन मिला. इसके बाद एक बयान में वो भारत को ब्रिटेन की जगह अमेरिका का गुलाम बोल गए.
बयान – 04
कुंभ पर तीरथ सिंह रावत के बोल बिगड़े. उन्होंने कहा कि कुंभ पर गंगा मां की कृपा है इसलिए कोरोना नहीं फैलेगा. रावत ने कहा कि मरकज बंद कमरे में हुआ इसलिए कोरोना हुआ. जबकि कुंभ खुली जगह पर हो रहा है. 
 

खबरें और भी हैं...