नई दिल्ली : केंद्रीय मंत्री जितेंद्र सिंह गोवा में साइंस फेस्ट का उद्घाटन करेंगे

November 16th, 2021

हाईलाइट

  • आईआईएसएफ ज्ञान व विचार के आदान-प्रदान के लिए मंद देगा

डिजिटल डेस्क, नई दिल्ली। केंद्रीय विज्ञान और प्रौद्योगिकी मंत्री जितेंद्र सिंह पणजी में भारत अंतर्राष्ट्रीय विज्ञान महोत्सव (आईआईएसएफ) के सातवें संस्करण का उद्घाटन करेंगे। सिंह ने कहा कि 10 से 13 दिसंबर तक आयोजित होने वाले आईआईएसएफ का विषय आजादी का अमृत महोत्सव है, जिसका उद्देश्य समृद्ध भारत के लिए रचनात्मकता, विज्ञान, प्रौद्योगिकी और नवाचार का जश्न मनाना है। विज्ञान और प्रौद्योगिकी मंत्रालय ने एक बयान में कहा कि इस साल मेगा इवेंट के दौरान 12 थीम आधारित कार्यक्रम आयोजित किए जाएंगे। सिंह ने कहा कि आईआईएसएफ की श्रृंखला भारत में सतत विकास और नए तकनीकी नवाचारों के लिए वैज्ञानिक दृष्टिकोण के स्पेक्ट्रम को विकसित करने और व्यापक बनाने में भारत के दीर्घकालिक दृष्टिकोण का एक अभिन्न अंग है। इसका उद्देश्य विज्ञान और प्रौद्योगिकी की उन्नति के माध्यम से ग्रामीण भारत के लिए एक रणनीति बनाना भी है।

मंत्री ने बताया कि आईआईएसएफ ज्ञान और विचारों के आदान-प्रदान के लिए भारत भर के युवा छात्रों, वैज्ञानिकों व टेक्नोक्रेट को एक मंच प्रदान करेगा और पिछले सात वर्षो में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा शुरू किए गए स्वच्छ भारत अभियान, स्वस्थ भारत अभियान, मेक इन इंडिया, डिजिटल इंडिया, नमामि गंगे, उन्नत भारत अभियान जैसे प्रमुख कार्यक्रमों का भी समर्थन करेगा।उन्होंने कहा, महोत्सव का मुख्य उद्देश्य लोगों द्वारा नवाचारों का उपयोग करना और ऐसी तकनीक विकसित करना है जो जनता के लिए सस्ती हो।

आईआईएसएफ विज्ञान और प्रौद्योगिकी मंत्रालय, पृथ्वी विज्ञान मंत्रालय और विज्ञान भारती, विज्ञान के लिए एक स्वदेशी आंदोलन का एक संयुक्त कार्यक्रम है। एक विज्ञप्ति में कहा गया, इन चार दिनों के दौरान किए जाने वाले कार्यक्रमों में एक विज्ञान फिल्म महोत्सव, विज्ञान साहित्य महोत्सव, इंजीनियरिंग छात्र महोत्सव, विज्ञान ग्राम महोत्सव, पारंपरिक शिल्प और कारीगर महोत्सव, गिनीज बुक ऑफ वल्र्ड रिकॉर्डस, खेलों और खिलौनों का त्योहार, टेक्नोक्रेट्स मीट, इको-फेस्टिवल, न्यू एज टेक्नोलॉजी शो, नेशनल सोशल ऑर्गेनाइजेशन एंड इंस्टीट्यूशंस मीट में वैश्विक और भारतीय वैज्ञानिक शामिल होंगे। पहला आईआईएसएफ 2015 में आयोजित किया गया था।

(आईएएनएस)