• Dainik Bhaskar Hindi
  • National
  • Vaccination coverage in the country crosses 152 crores, vaccination dose to so many people imposed on the first day

कोविड-19: देश में टीकाकरण का कवरेज 152 करोड़ के पार, पहले दिन लगाई गई इतने लोगों को प्रिकॉशन डोज

January 11th, 2022

हाईलाइट

  • पीएम मोदी ने प्रिकॉशन डोज लेने वाले पात्र लोगों की तारीफ की
  • भारत का कुल टीकाकरण कवरेज 152.78 करोड़ हुआ
  • प्रिकॉशन डोज के लिए फ्रंटलाइन वर्कर्स और कोमोरबिडिटी वाले वरिष्ठ नागरिक पात्र

डिजिटल डेस्क, नई दिल्ली। कोरोना संक्रमण तेजी से फैल रहा है, लोगों को तेजी के साथ कोरोना के खुराक लिए जानें पर जोर दिया जा रहा है। कोरोनो के बढ़ते संक्रमण को देखते हुए सरकार अलर्ट है। बता दें के देश में पहले दिन पात्र आयु वर्ग को 9 लाख से अधिक एहतियाती खुराकें दी गईं। बीते सोमवार शाम तक कुल 82 लाख वैक्सीन खुराकें दी गईं।

बता दें कि केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने सोमवार को ये जानकारी दी। इसके मुताबिक भारत का कुल टीकाकरण कवरेज 152.78 करोड़ हो गया है। एम्स के निदेशक डॉक्टर रणदीप सिंह गुलेरिया ने भी सोमवार से शुरू हुए कोमोरबिडिटी वाले 60 वर्ष से अधिक उम्र के वरिष्ठ नागरिक, फ्रंटलाइन वर्कर्स और हेल्थकेयर वर्कर्स के लिए राष्ट्रव्यापी अभियान के तहत एहतियाती खुराक ली।

पीएम मोदी ने तारीफ में कही ये बात

आपको बता दें कि देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने प्रिकॉशन डोज लेने वाले पात्र लोगों की तारीफ की। उन्होंने ट्वीट कर लिखा कि भारत ने एहतियाती खुराक देना शुरू कर दिया है। उन लोगों को सलाम जिन्होंने कोरोना डोज ली है। पीएम ने कहा कि मैं उन सभी लोगों से अनुरोध करूंगा कि जो टीकाकरण के लिए पात्र है वैक्सीनेशन जरूर कराएं। पीएम ने आगे कहा कि जैसा कि हम लोग जानते हैं कि टीकाकरण कोविड-19 से लड़ने के सबसे प्रभावी साधनों में से एक है।

प्राथमिकता वाले समूहों को लगाई जा रही तीसरी खुराक

आपको बता दें कि देश में 10 जनवरी से प्राथमिकता वाले समूहों को कोरोना की तीसरी खुराक लगाई जा रही है। कुछ समय पहले ही पीएम मोदी ने देश में 15 से 18 वर्ष के आयु वर्ग के बच्चों को कोरोना वैक्सीन की डोज दिए जाने का ऐलान किया था। इसके साथ ही उन्होंने पात्र लोगों को कोरोना वैक्सीन की तीसरी डोज लगाने की भी घोषणा की थी। कोविन ऐप पर प्रिकॉशन डोज के लिए रजिस्ट्रेशन 8 जनवरी से शुरू हो गया था। सरकार इसे बूस्टर के बजाय प्रिकॉशन (एहतियाती) डोज कह रही है। 

ये लोग हैं तीसरी खुराक के लिए पात्र

बता दें कि प्रिकॉशन डोज के लिए फ्रंटलाइन वर्कर्स और कोमोरबिडिटी वाले वरिष्ठ नागरिक पात्र हैं। इसके लिए दूसरी और तीसरी खुराक के बीच 9 महीने का अंतर होना चाहिए। इसलिए, यदि आपने अप्रैल 2021 के पहले सप्ताह तक अपनी दूसरी खुराक प्राप्त कर ली है, तो ही केवल आप एहतियाती खुराक के लिए पात्र होंगे। अन्यथा, आपको अपनी दूसरी खुराक प्राप्त किए 39 सप्ताह होने तक प्रतीक्षा करनी होगी।