comScore

मौसम: देश में 2 दिन पहले आया मानसून, अरब सागर के ऊपर तूफान सक्रिय, 3 जून तक गुजरात, महाराष्ट्र में देगा दस्तक

मौसम: देश में 2 दिन पहले आया मानसून, अरब सागर के ऊपर तूफान सक्रिय, 3 जून तक गुजरात, महाराष्ट्र में देगा दस्तक

हाईलाइट

  • 48 घंटों के अंदर तीव्र हो सकता है अरब सागर के ऊपर तूफान सक्रिय
  • मौसम विभाग ने कहा- तूफान के प्रभाव से एक जून को केरल आ सकता है मॉनसून

डिजिटल डेस्क, नई दिल्ली। भारतीय मौसम विभाग के पूर्वानुमान के उलट इस बार मानसून दो दिन पहले शनिवार को केरल के तट से टकराया है। निजी एजेंसी स्काईमेट ने इस बात का दावा किया है। भारतीय मौसम विभाग ने कहा था कि मानसून एक जून को केरल तट से टकराएगा, लेकिन अब दो दिन पहले ही इसकी आने की खबर है। हालांकि, भारतीय मौसम विभाग (आईएमडी) ने अभी आधिकारिक तौर पर इसका एलान नहीं किया है। स्काईमेट वेदर के सीईओ जतिन सिंह ने कहा कि केरल के ऊपर दक्षिण-पश्चिम मानसून के आगमन की घोषणा करने के लिए बारिश, आउटवेव लॉन्गवेव रेडिएशन (ओएलआर) मूल्य और हवा की गति जैसी सभी स्थितियों की निगरानी पूरी तरह से की गई है। केरल के तट से मानसून के टकराने के बाद देश में चार महीने की बारिश के मौसम की शुरुआत होती है।

वहीं भारत मौसम विज्ञान विभाग (आईएमडी) ने शनिवार को कहा कि अगले 48 घंटे में अरब सागर के ऊपर एक निम्न दबाव का क्षेत्र बनेगा और वह 3 जून तक गुजरात और उत्तर महाराष्ट्र के तटों की ओर बढ़ेगा। अरब सागर के ऊपर दो तूफान बन रहे हैं, जिसमें से एक अफ्रीकी तट से लगे समुद्र क्षेत्र के ऊपर है और वह ओमान व यमन की ओर बढ़ सकता है, जबकि दूसरा भारत के करीब है। इस घटनाक्रम की जानकारी ऐसे समय में सामने आई है, जब 10 दिन पहले बंगाल की खाड़ी से उठे चक्रवाती तूफान अम्फान के कारण बंगाल के चार जिलों में भारी तबाही हुई थी। इस तूफान में 86 लोगों की मौत हो गई थी और लाखों लोग बेघर हो गए थे।

48 घंटों के अंदर तीव्र हो सकता है तूफान
आईएमडी ने अपने दैनिक बुलेटिन में कहा कि दक्षिण पूर्व-पूर्व मध्य अरब सागर के ऊपर अगले 48 घंटों के दौरान एक निम्न दबाव का क्षेत्र बनेगा। यह उसके अगले 48 घंटों के दौरान और तीव्र होकर डिप्रेशन में बदलेगा और उसके बाद और तीव्र हो सकता है। यह 3 जून तक गुजरात और उत्तर महाराष्ट्र तटों की ओर उत्तर-पश्चिमोत्तर की तरफ बढ़ेगा। 

मौसम विभाग ने कहा- तूफान के प्रभाव से एक जून को केरल आ सकता है मॉनसून
एक निम्न दबाव क्षेत्र और एक डिप्रेशन आईएमडी के आठ श्रेणी के पैमाने पर प्रथम दो स्तर हैं। इस पैमाने का उपयोग तूफान को उसकी तीव्रता के आधार पर मापने में किया जाता है। मौसम ब्यूरो ने कहा कि अरब सागर के ऊपर संभावित निम्न दबाव के क्षेत्र के प्रभाव के कारण स्थितियां एक जून से केरल के ऊपर मॉनसून की शुरुआत के लिए अनुकूल होंगी।

कमेंट करें
b9UOP