comScore

जहरीली शराब पीने से 15 महिला समेत 32 लोगों की मौत

February 23rd, 2019 08:45 IST
जहरीली शराब पीने से 15 महिला समेत 32 लोगों की मौत

हाईलाइट

  • असम के गोलाघाट जिले में जहरीले शराब पीने से 15 महिलाओं समेत 32 लोगों की मौत हो गई है।
  • यह सभी चाय-बगान में काम करने वाले श्रमिक थे।
  • असम के एक्साइज मिनिस्टर परिमल शुक्लाबैद्य ने घटना की जांच के आदेश दिए हैं।

डिजिटल डेस्क, गुवाहाटी। असम के गोलाघाट जिले में जहरीली शराब पीने से 15 महिलाओं समेत 32 लोगों की मौत हो गई है। यह सभी चाय-बगान में काम करने वाले श्रमिक थे। इसके अलावा जहर की वजह से बेहोश हुए लगभग 40 मजदूरों को जोरहट मेडिकल कॉलेज अस्पताल में गंभीर हालत में भर्ती कराया गया है। असम के एक्साइज मिनिस्टर परिमल शुक्ल वैद्य ने घटना की जांच के आदेश दिए हैं।

गोलाघाट के ज्वाइंट डायरेक्टर ने कहा, '15 महिलाएं और 17 पुरुषों की मौत हो गई है। इसमें से 18 गोलाघाट नागरिक अस्पताल में भर्ती थे। शराब पीने के बाद इन लोगों ने सीने में दर्द और तबीयत ज्यादा खराब होने की समस्या बताई थी, जिसके बाद इन्हें अस्पताल में भर्ती कराया गया था। इसके अलावा 54 लोगों को जोरहट मेडिकल कॉलेज अस्पताल में भर्ती कराया गया था। जिसमें से 14 लोगों की मौत हो गई।'

स्थानीय लोगों के अनुसार, यह घटना गुरुवार शाम को सलमारा चाय बागान में हुई। जब चार महिलाओं की मूनशाइन का सेवन करने के बाद मौत हो गई। इसके बाद अगले 12 घंटों में, आठ और मौतें हुईं, जिसके बाद यह संख्या 30 के पार पहुंच गई। पुलिस जुगीबारी इलाके में बगीचे के पास अवैध देशी शराब के कारखाने के मालिकों को गिरफ्तार किया है। उनकी पहचान इंदुकल्प बोरदोलोई और देबा बोरा के रूप में की गई है। पुलिस शराब की अवैध बिक्री करने वाले लोगों की तलाश कर रही है।

स्थानीय लोगों ने कहा कि अवैध शराब का एक गिलास 10 रुपये से 20 रुपये में बेचा जाता है। इससे पहले भी शराब विक्रेता संजू ओरंग और उसकी मां द्रौपदी ओरंग की मिलावटी बूटलेग शराब का सेवन करने से कुछ लोगों की मौत हो गई थी। वहीं पुलिस अधीक्षक पार्थ प्रतिम सैकिया का कहना है कि हम पहले ही दो को गिरफ्तार कर चुके हैं और अन्य आरोपियों की तलाश की जा रही है। जबकि गोलाघाट के डिप्टी कमिश्नर धीरेन हजारिका ने कहा कि हम घटना की जांच करेंगे। दोषी को बख्शा नहीं जाएगा।

असम के मुख्यमंत्री सर्बानंद सोनोवाल ने घटना पर दुख जताया है। वहीं एक्साइज मिनिस्टर परिमल शुक्ल वैद्य ने तीन दिन के अंदर इस घटना का रिपोर्ट मांगी है। उन्होंने घटना के लिए जिम्मेदार दो एक्साइज अधिकारियों को निलंबित कर दिया है। इसके अलावा उन्होंने मामले की जांच के लिए चार सदस्यीय टीम भी गठित की है। शुक्ल वैद्य ने कहा कि जांच की रिपोर्ट सामने आने पर सख्त कदम उठाए जाएंगे।

Loading...
कमेंट करें
vcjPD
कमेंट पढ़े
kuldeep mehta February 23rd, 2019 01:24 IST

jab tak bhartiy police imandari se kam nahi karegi tab tak ye hadase hote rahege, hadse ke baad sab officer or mantriyo ki nid toot jati h, or aanan fanan me 2 ko suspend, inquery commette bana di jati h, kuchh dino me log bhul jate h, muzarim chhode diye jate h, commettee chai pani pikar ghar chali jati h, sara natak khatam or agale hadse ka inatajar shuru ho jata h, iisi liye kahate h, MERA BHARAT MAHAN, SAB SE BADA BEIMAN

Loading...
loading...