comScore

फेसबुक पर कलेक्टर की फेक आईडी बनाकर ठगी का मामला - 800 पेज की चार्जशीट पेश 

फेसबुक पर कलेक्टर की फेक आईडी बनाकर ठगी का मामला - 800 पेज की चार्जशीट पेश 

 डिजिटल डेस्क सतना। फेसबुक पर जिला मजिस्ट्रेट और कलेक्टर डा.सतेन्द्र सिंह की फेक आईडी बना कर उनके एक म्युचुअल फे्रंड से 20 हजार की ठगी के अंतरराज्यीय साइबर गिरोह के 6 आरोपियों के खिलाफ पुलिस ने बुधवार को यहां न्यायिक दंडाधिकारी (प्रथम श्रेणी) आसिफ अहमद अब्बासी की अदालत में 800 पेज की चार्जशीट पेश की। जिले में अपने किस्म का ये पहला प्रकरण है, जब पुलिस की ओर से इतनी मोटी चार्जशीट पेश की गई है। उल्लेखनीय है, इंस्पेक्टर मोहित सक्सेना के नेतृत्व में झारखंड गई पुलिस इन आरोपियों को गिरफ्तार कर 8 अगस्त को सतना लाई थी। सरगना समेत आरोपी सेंट्रल जेल में बंद हैं। सूत्रों ने बताया कि 90 दिन के अंदर  इस चार्जशीट को तैयार कर कोर्ट में पेश करने के लिए एसपी रियाज इकबाल ने साइबर टीम के साथ 8 सदस्यीय समिति बनाई थी। 
 क्या है पूरा प्रकरण 
गौरतलब है, फेसबुक पर कलेक्टर डा.सतेन्द्र सिंह की फेक आईडी बना कर उनके एक म्युचुअल फे्रंड से 20 हजार की ठगी की शिकायत पर सिटी कोतवाली में  31 जुलाई को अज्ञात आरोपियों के विरुद्ध आईपीसी की दफा - 419, 420, 467, 468 ,120 बी और आईटी एक्ट -2008 के सेक्सन 66 सी-66 डी के तहत अपराध कायम किया गया था।  पड़ताल के शुरुआती चरण में पुलिस के पास सुराग के नाम पर महज फेसबुक का एक  स्क्रीन शॉट था, जिसमें ठगी की रकम जमा करने के लिए बैंक का एकाउंट नंबर दर्ज था। 
झारखंड के हैं सभी आरोपी 
इसी स्क्रीन शॉट को आधार पर सबसे पुलिस झारखंड के जमशेदपुर में उस पुष्पाकर आर्या पिता स्व. मोहन आर्या निवासी प्रांतिका अपार्टमेंट फ्लैट नं. बी/4/2 निर्मल नगर दुमहनि सोनारी तक पहुंची थी, जिसके खाते में ठगी की रकम ट्रांसफर हुई थी। पुष्पाकर से पुलिस को 5 अन्य आरोपियों कुनाल गोस्वामी पिता बबलू गोस्वामी (22) निवासी गोपालपुर थाना निरसा जिला धनबाद, अमर दत्ता पिता सागर (26) निवासी गोपालपुर थाना निरसा जिला धनबाद,   योगेन्द्र  उर्फ चंदन अग्रवाल पिता कैलाश (34)  निवासी शिवाजी पथ उलेयान कदमा थाना जमशेदपुर, अमित सिन्हा पिता विनय (33)निवासी न्यू मीरूडीह काली मंदिर बस्ती आदित्यपुर थाना आरटीआई इंडस्ट्रीयल सरायकेला खरसावां और बिट्टू सतपथी पिता आदित्य सतपथी  निवासी इच्छापुर ग्वालपाड़ा आदित्यपुर सरायकला खरसावा (सभी निवासी झारखंड) तक पहुंची थी। 
 

कमेंट करें
4vPAY