comScore

चुनाव में हार पर बोले कांग्रेस नेता आनंद शर्मा- मेनिफेस्टो पर नहीं दिया ध्यान


हाईलाइट

  • लोकसभा चुनाव में हार के बाद कांग्रेस नेता आनंद शर्मा ने खुलकर की बात
  • आनंद शर्मा ने लीडरशिप से लेकर घोषणापत्र तक गिनाई खामियां

डिजिटल डेस्क, दिल्ली। लोकसभा चुनाव में कांग्रेस को मिली बड़ी हार के बाद कांग्रेस के वरिष्ठ नेता और राज्यसभा सांसद आनंद शर्मा ने पार्टी की कमियों पर खुलकर बात की है। उन्होंने कांग्रेस की लीडरशिप से लेकर घोषणापत्र की खामियां गिनाई। शर्मा ने कहा, राजद्रोह कानून को खत्म करने और आर्म्ड फोर्सेज (स्पेशल पावर्स) एक्ट में बदलाव जैसी बातों को घोषणापत्र में शामिल करने से कांग्रेस को काफी नुकसान हुआ। कांग्रेस पार्टी को चुनावी घोषणा पत्र पर बरीकी से ध्यान देने की जरुरत थी। 

एक निजी टीवी चैनल से बातचीत में आनंद शर्मा ने कहा, कांग्रेस ने अपने घोषणापत्र में इस बात का जिक्र किया गया था कि कश्मीर में सेना की तैनाती को कम किया जाएगा। उन्होंने कहा कि पार्टी उस नैरेटिव का संतुलन नहीं बना सकी। शर्मा ने यह भी कहा कि पार्टी के घोषणापत्र के संदर्भों को बीजेपी ने गलत तरीके से और तोड़-मरोड़ कर प्रचारित किया। जबकि पुलवामा हमले और बालाकोट एयर स्ट्राइक के बाद बीजेपी ने अति-राष्ट्रवाद का अपने फायदे के लिए इस्तेमाल किया और इसका राजनीतिकरण किया।

आनंद शर्मा ने चुनाव बाद पार्टी में संकट होने की बात भी खुलकर स्वीकार की। उन्होंने कहा, हां संकट है क्योंकि इतनी बड़ी हार होगी, हमने ऐसा सोचा नहीं था। कांग्रेस अध्यक्ष ने इस्तीफे की पेशकश की जिसे नामंजूर कर दिया गया। इसके बाद अबतक के समय में अनिश्चितता बनी रही। अब समय आ गया है कि हमें ईमानदार तरीके से आगे बढ़ना चाहिए और आत्मनिरीक्षण करना चाहिए।

आनंद शर्मा ने कहा अब पार्टी को उन मुद्दों और फैक्टर्स की पहचान करनी होगी जहां गलती हुई। संगठन या कैंपेन में क्या कमजोरी रह गई, क्योंकि चुनाव के बाद हम खत्म होने वाले नहीं हैं। शर्मा ने कहा कि ‘न्याय’ योजना के बारे में देर से बात करना भी नुकसान का एक कारण रहा। शर्मा ने कहा कि यदि इसके बारे में 6 महीने पहले बात की जाती तो इसका असर पड़ सकता था, लेकिन देर से आने के कारण यह प्रधानमंत्री किसान स्कीम का मुकाबला नहीं कर पाई जिससे लोगों को पहले ही कैश मिलने लगा था। साथ ही उन्होंने कमजोर काडर और संगठन में शिथिलता को भी हार के कारणों में गिनाया।

कमेंट करें
M6qSc