comScore

सूदखोरों की प्रताड़ना से तंग आकर जहर खाया, कर्ज में डूबे व्यापारी ने उठाया आत्मघाती कदम 

सूदखोरों की प्रताड़ना से तंग आकर जहर खाया, कर्ज में डूबे व्यापारी ने उठाया आत्मघाती कदम 

डिजिटल डेस्क,जबलपुर। अधारताल थाना क्षेत्र स्थित जयप्रकाश नगर निवासी एक व्यापारी ने सूदखोरों की प्रताड़ना से तंग आकर जहरीली वस्तु का सेवन कर लिया। जहर का सेवन करने के बाद उसकी हालत बिगड़ने पर परिजनों द्वारा उसे संजीवनी अस्पताल में भर्ती कराया गया है। अस्पताल में भर्ती व्यापारी की हालत में सुधार होना बताया जा रहा है। उधर सूचना मिलने पर पुलिस ने पीड़ित के बयान दर्ज कर प्रकरण जाँच में लिया है। 

30 लाख का कर्ज लिया था

सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार जयप्रकाश नगर स्थित साईं मंदिर के पास रहने वाले मनीष केशवानी का अगरबत्ती बनाने का कारखाना था। व्यापार बढ़ाने के लिए उसने कुछ लोगों से करीब 30 लाख का कर्ज लिया था। कर्ज न चुकाने के कारण कर्जदार उससे पैसा वापस माँग रहे थे इसी के चलते मनीष ने बीती शाम किसी जहरीली वस्तु का सेवन कर लिया और अपने किसी साथी को फोन कर इससे अवगत कराया और हालत बिगडऩे की जानकारी देकर उसे अस्पताल ले जाने के लिए बुलाया था। सूचना पाकर मनीष का साथी उसके घर पहुँचा और मनीष को तत्काल अस्पताल में भर्ती कराया गया था। उधर सूचना पाकर अस्पताल पहुँचे मनीष के दादा वेरूमल केशवानी ने बताया कि उनके पोते ने करीब 30 लाख रुपए कर्ज लिया था और इतनी रकम चुकाने के बाद भी कर्ज ज्यों का त्यों बना हुआ है और कर्जदार वसूली के लिए दबाव बना रहे थे जिसके चलते उसने यह कदम उठाया है।

अवैध वसूली के लिए बस में तोड़-फोड़ कर आतंक मचाया

अधारताल थाना क्षेत्र स्थित महाराजपुर पुरानी बस्ती में बीती रात दो बजे क्षेत्र के शातिर बदमाशों ने अवैध वसूली के लिए आतंक मचाते हुए स्कूल बस में जमकर तोड़-फोड़ की। विरोध करने पर बस मालिक को जान से मारने की धमकी देकर आरोपी वहाँ से फरार हो गये। आधी रात को हुई इस घटना की रिपोर्ट थाने में दर्ज कराए जाने पर पुलिस ने मामला दर्ज कर आरोपियों को हिरासत में लिया।   सूत्रों के अनुसार महाराजपुर पुरानी बस्ती निवासी रूप सिंह ठाकुर उम्र 45 वर्ष ने रिपोर्ट दर्ज कराई है कि उसकी स्कूल बस चलती है। बीती रात वह महाराजपुर स्थित अपने ऑफिस में बैठा था। उसी दौरान 3 युवक आये और गाली-गलौज करने लगे। उसने ऑफिस से बाहर निकलकर उन्हें गाली-गलौज करने से मना किया तो तीनों ने उन्हें धमकाते हुए शराब पीने के लिए रुपयों की माँग की। रुपये देने से इनकार करने उन्होंने पत्थर उठाकर हमले की धमकी दी। भयभीत होकर वह अपने ऑफिस के अंदर घुस गया। इसके बाद आरोपियों ने बाहर खड़ी  बस क्रमंाक एमपी 20 पीए 2245  में जमकर तोड़-फोड़ कर दी। तोड़-फोड़ करने वालों की पहचान दीपक ठाकुर, सत्यम भूमिया, नितिन मेहरा के रूप में की गई। इस घटना की  रिपोर्ट पर धारा 294, 327, 427, 34 के तहत मामला दर्ज कर पुलिस ने तीनों आरोपियों को दबोच लिया।
 

कमेंट करें
2aQTS