comScore

मोबाइल पर दोस्ती हुई, फिर दुराचार - विवाह करने का दिया था झांसा

मोबाइल पर दोस्ती हुई, फिर दुराचार - विवाह करने का दिया था झांसा

डिजिटल डेस्क  जबलपुर।  मोबाइल पर दोस्ती करने के बाद एक युवक ने खुद को अविवाहित बताया और फिर शादी का झाँसा देकर  कॉलेज की छात्रा के साथ दुराचार किया। पीडि़त युवती बदला हुआ नाम कीर्ति ने घमापुर थाने में रिपोर्ट दर्ज कराते हुए कहा है क वो कॉलेज में पढ़ती है, करीब दो महीने पहले एक मोबाइल एप्लीकेशन को इंस्टॉल कराने के दौरान उसकी पहचान बरगी निवासी रामदास कुशवाहा से हुई थी। उसने बताया कि वह एक सॉफ्टवेयर कंपनी के लिए काम करता है। इस बात से वह प्रभावित हो गई और उसने रामदास से नौकरी लगवाने को कहा।
नौकरी दिलाने के नाम पर घुमाया
 रामदास ने उसके डिटेल्स लेने के बाद जल्द नौकरी लगवाने का वादा करते हुए उसे अपना मोबाइल नम्बर दे दिया। उसके बाद नौकरी दिलाने के नाम पर वह युवती को अक्सर फोन लगाता और बातें करता। बातचीत के दौरान उनकी दोस्ती हो गई और वे साथ घूमने फिरने लग गए। रामदास ने कीर्ति से बताया कि वह अविवाहित है और अच्छा कमा लेता है और उसने कीर्ति से कहा कि अब तुम्हें नौकरी करने की कोई जरूरत नहीं है। उसने कीर्ति के सामने विवाह करने का प्रस्ताव भी रखा, जिसे कीर्ति ने स्वीकार कर लिया। उसके बाद रामदास, कीर्ति को बरगी स्थित मंदिर में ले गया और दोनों ने शादी कर ली और वे साथ रहने लगे। कुछ दिनों के बाद पता चला कि रामदास की पहले ही शादी हो चुकी है और उसके बच्चे भी हैं। जब युवती ने रामदास से बात करनी चाही तो वह झगडऩे लगा।  पुलिस ने आरोपी के खिलाफ बलात्कार का मामला दर्ज कर उसे  हिरासत में ले लिया है।
 

कमेंट करें
iwJCF