comScore

कई शर्तें मानने के बाद आखिरकार पाकिस्तान को मिला IMF से 42 हजार करोड़ का कर्ज


हाईलाइट

  • तीन साल के लिए पाकिस्तान को मिली मदद
  • आईएमएफ ने डाला कई नियमों का बोझ
  • पाकिस्तान को बढ़ानी होगी तेल और गैस की कीमत

डिजिटल डेस्क, लाहौर। लंबी जद्दोजहद के बाद आखिर पाकिस्तान को इंटरनेशनल मॉनेटरी फंड (IMF) से बैलआउट पैकेज (खैरात) दे दिया है। पाकिस्तान की आर्थिक स्थिति में सुधार के लिए आईएमएफ की तरफ से उसे 6 बिलियन डॉलर (करीब 42 हजार करोड़) रुपए का राहत पैकेज दिया गया है। आईएमएफ ने तीन साल के पाकिस्तान को ये मदद दी है।

पाकिस्तान को बिगड़ती आर्थिक स्थिति सुधारने के लिए मदद तो मिल गई है, लेकिन आईएमएफ ने उस पर कई नियमों का बोझ भी लाद दिया है। आईएमएफ की शर्तों के मुताबिक पाकिस्तान को लोगों के हितों के लिए चलने वाली योजनाओं में कटौती करनी होगी और उन्हें आने वाले समय में तेल और गैस के दाम भी बढ़ाने होंगे।

आईएमएफ की तरफ से फंड देने की बात को अब तक स्वीकार नहीं किया गया है, लेकिन पाकिस्तान की मीडिया ने वहां के प्रधानमंत्री इमरान खान के आर्थिक सलाहकार डॉ. अब्दुल हफीज शेख के जरिए इस बात की पुष्टि की है। आईएमएफ के ऑफिशियल्स जल्द ही पाकिस्तान सरकार के अधिकारियों के साथ बैठक भी कर सकते हैं। आईएमएफ की तरफ से मिलने वाले पैसों से पाकिस्तान 39 महीनों तक आर्थिक तौर पर सही तरह से चल पाएगा।

Loading...
कमेंट करें
rTv8P
Loading...
loading...