comScore

उत्तर कोरिया की सेना में महिलाओं से होते थे रेप, रुक जाते थे पीरियड्स

November 22nd, 2017 11:16 IST
उत्तर कोरिया की सेना में महिलाओं से होते थे रेप, रुक जाते थे पीरियड्स

डिजिटल डेस्क, सोल। उत्तर कोरिया विश्व की चौथी महत्वपूर्ण सेना में गिनी जाती है, लेकिन अब उत्तर कोरिया की स्थिति बदतर हो गई है। यहां पर महिला सैनिकों के सामने एक बड़ी समस्या है। एक पूर्व महिला सैनिक का आरोप है कि उत्तर कोरिया की सेना में महिला सैनिकों के साथ रेप हो रहे हैं। इस महिला सैनिक का कहना है कि उत्तर कोरिया की सेना में महिला सैनिकों को कठिन दौर से गुजरना पड़ता था। हालांकि उत्तर कोरिया की सेना का कहना है कि वो यौन हिंसा को बहुत गंभीरता से लेती है। वहां रेप जैसे जघन्य अपराध में दोषी पाए गए पुरुषों को सात साल तक की सजा का प्रावधान भी है। 

दोबारा सैनिटरी पैड को यूज करना पड़ता था

महिला सैनिक ने कहा कि अधिकांश महिलाओं की माहवारी समय से पहले रुक जाती है। उन्हें एक ही सैनिटरी पैड को दोबारा यूज करना पड़ता है। सेना में काम कर रही महिलाओं के साथ बलात्कार की वारदात बेहद आम बात हैं। बता दें कि सालों तक उत्तर कोरिया की सेना में रहकर इस पीड़ा को झेलने वाली ली सो योन ने सोमवार को अपने अनुभव साझा किए हैं। उन्होंने बताया कि करीब 10 वर्ष तक एक महिला कमरे में रही। जहां वह रह रही थी वहां कुछ और महिलाएं भी थीं। उन महिलाओं को सिर्फ एक ही दराज आवंटित किया गया था। इतना ही नहीं इन दराजों पर सिर्फ दो फोटो लगाने की अनुमति दी गई थी। 

दो बार की भागने की कोशिश

इसमें एक फोटो उत्तर कोरिया के संस्थापक किम इल सुंग और दूसरी फोटो उनके उत्तराधिकारी प्रमुख नेता किम जोंग इल की थी। छोटे-छोटे कमरों में मेंढक और सांप तक निकल जाया करते थे। पहाड़ पर तैनाती के दौरान झरनों से एक पाईप को जोड़ दिया जाता था। जिससे पानी की सप्लाई की जाती थी। ली सो योन ने कहा कि जब 1990 के दौर में देश में अकाल के हालात थे तो वह भी सेना में शामिल हो गई थीं, उस समय महिलाओं से भोजन बनाने, साफ सफाई आदि कार्य कराए जाते थे, और बद से बदतर हालात में रखा जाता था। ली सो योन ने यह भी बताया कि साल 2008 में उन्होंने दो बार सेना से भागने की कोशिश की। पहली बार उन्हें पकड़ लिया गया और एक साल के लिए जेल भेज दिया गया। इसके बाद दूसरी बार वह सफलतापूर्वक नदी के रास्ते तैरते हुए भागने में सफल रहीं।


 

कंपनी कमांडर बनाता था हवस का शिकार

उन्होंने बताया कि 10 साल तक वे उत्तर कोरिया की सेना में रहीं। 1992 में वह 17 साल की थीं और 2001 में उन्होंने सेना छोड़ दी। ली ने बताया कि कई लड़कियों का सेना में रेप किया गया। हालांकि वह इस पीड़ा से बच गईं। ली ने यह भी बताया कि कंपनी कमांडर ड्यूटी खत्म होने के बाद अपने अधीन काम कर रहीं महिला सैनिकों से बलात्कार करता था। यह सिलसिला रोजाना चलता था। आज ली 41 साल की हो चुकीं हैं, वह अपनी सेना की नौकरी से काफी प्यार करती थीं। उनके अनुसार सेना में कड़ी ट्रेनिंग और खाने की कमी की वजह से महिलाओं के शरीर पर बहुत असर पड़ता है। बता दें कि किम जोंग-उन के शासनकाल में उत्तर कोरियाई महिलाओं को कम से कम 7 साल सेना में देना जरूरी है। 
 

कमेंट करें
86d4C