comScore

ईरान ने की ब्रिटिश तेल के टैंकरों को कब्जे में लेने की कोशिश, युद्धपोत का करना पड़ा आगे


हाईलाइट

  • तीन टैंकरों ने की रास्ता रोकने की कोशिश
  • ब्रिटेन ने बताया अंतर्राष्ट्रीय कानूनों का उल्लंघन
  • ईरानी अधिकारियों से तनाव कम करने का आग्रह

डिजिटल डेस्क, लंदन। खाड़ी क्षेत्र में तनाव बढ़ते ही जा रहा है। ब्रिटेन सरकार के मुताबिक खाड़ी के समुद्री क्षेत्र में ईरान के तीन पोतों ने ब्रिटिश टैंकर का रास्ता बाधित करने की कोशिश की, बाद में ब्रिटिश युद्धपोत के हस्तक्षेप करने के बाद ये मामला हल हो सका। ब्रिटेन की सरकार ने इस घटना पर तीखी प्रतिक्रिया दी है। 

ब्रिटेन ने बयान जारी कर कहा कि ईरान के 3 पोतों ने अंतर्राष्ट्रीय कानून तोड़ते हुए स्ट्रेट ऑफ हॉर्मूज में व्यावसायिक पोत 'ब्रिटिश हेरिटेज' का रास्ता रोकने की कोशिश की। स्थिति ऐसी बन गई थी कि ब्रिटेन के एचएमएस मोंट्रोस को हस्तक्षेप करना पड़ा। एचएमएस के मौखिक चेतावनी जारी करने के बाद ईरानी जहाज दूर हो गए। 

ब्रिटिश सरकार ने कहा कि इस कार्रवाई से वो चितिंत हैं। उन्होंने तनाव कम करने के लिए ईरानी अधिकारियों से आग्रह किया है। बता दें कि ब्रिटिश अधिकारियों ने पिछले सप्ताह  जिब्राल्टर में सीरिया जा रहा ईरान का एक तेल टैंकर रोका था, माना जा रहा था कि ये टैंकर ईरान का कच्चा तेल लेकर युद्ध से तबाह सीरिया जा रहा था।

ब्रिटेन की कार्रवाई के बाद ईरान के राष्ट्रपति हसन रूहानी ने धमकी दी थी कि जिब्राल्टर तट पर तेल के टैंकर पर कब्जा करने की कीमत ब्रिटेन को जल्द ही चुकानी पड़ेगी। उन्होंने ब्रिटेन को चेतावनी दी थी कि मैं इस बात को रेखाकिंत करना चाहता हूं कि आपने (ब्रिटेन) समुद्री क्षेत्र में असुरक्षा की शुरुआत की है, जिसका परिणाम आपको जल्द भुगतना होगा। 

कमेंट करें
0fkR6