comScore

पल पल दिल के पास रिव्यू: खूबसूरत लोकेशंन और साधारण, प्योर लवस्टोरी छू लेगी आपका दिल


डिजिटल डेस्क, मुम्बई। बॉलीवुड में हीमैन के नाम से मशहूर धर्मेंद्र के पोते करण देओल की फिल्म पल पल दिल के पास रिलीज हो चुकी है। यह करण के सा​थ सा​थ सहर बांबा की भी डेब्यू फिल्म है। इस फिल्म में आपको उत्तर भारत के दिलकश नजारे देखने को मिलेंगे। यह फिल्म एक रोमांटिक लवस्टोरी है और हर लव स्टोरी की तरह इस फिल्म में भी थोड़ी नोक झोंक के साथ पनपते प्यार को दिखाया गया है।

फिल्म की कहानी की बात करें तो यह कहानी है एक विडियो ब्लॉगर सहर सेठी की जो एक पर्वतारोही करण सेहगल (करण देओल) के साथ ट्रेकिंग पर निकलती है और उसके प्यार में डूब जाती है। क्या इनकी लव स्टोरी अपने अंजाम तक पहुंचेगी, यही फिल्म की कहानी है। करण की अपनी ट्रेकिंग कंपनी है, जबकि सहर देश की सबसे बड़ी विडियो ब्लॉगर हैं जो अपने फैमिली रीयूनियन से बचने के लिए घूमने निकल जाती हैं। यहीं उन्हें करण के साथ घूमते हुए उनसे लड़ते-झगड़ते प्यार हो जाता है।

इस फिल्म की लोकेशन ​देखने लायक है, जो आपके दिल को छू लेगी। हिमाचल प्रदेश के दिलकश नजारे देखकर आपकी नजरें वहीं ठहर जाएंगी। फिल्म के फर्स्ट हाफ में कपल्स का इंट्रो का होता है और दोनों की लड़ाई झगड़े में ही आधी फिल्म निकल जाती है। फिल्म की सिनोमटॉग्रफी कमाल की है लेकिन दोनों लीड कैरेक्टर्स से दर्शक जुड़ नहीं पाते हैं। सहर का किरदार एक विडियो ब्लॉगर और उभरती हुई गायिका का है जो एक भी चीज के लिए कमिटेड नहीं दिखती हैं। फिल्म में दोनों के किरदार को भी स्ट्रांग तरीके से नहीं लिखा गया है। इसके बावजूद दोनों अपनी एक्टिंग से दर्शकों को बांधे रखने के ​पूरी कोशिश की है। 

करण ने अपने किरदार को नैचुरली निभाया है। वहीं सहर पर्दे पर कॉन्फिडेंट और प्रॉमिसिंग नजर आ रही हैं। दोनों की अभी बहुत सुधार की जरुरत है। स्पेशनली सहर को अपनी कॉमिक टाइमिंग। सहर और करण की कैमेस्ट्री ​दर्शकों के दिल को छूने में पूरी तरह कामयाब नहीं हो पाई, लेकिन फिल्म की कहानी के अनुसार आप इससे जुड़ाव महसूस कर पाएंगे। पल पल दिल के पास एक साधारण और प्योर लवस्टोरी है, जिसे सनी देओल ने डायरेक्ट किया है। 

कमेंट करें
F4ldU