comScore
Dainik Bhaskar Hindi

नॉर्थ कोरिया में हैं अजब-गजब कानून, जानकर हो जाएंगे हैरान

BhaskarHindi.com | Last Modified - June 12th, 2018 22:02 IST

2.5k
0
0

News Highlights

  • नॉर्थ कोरिया में हैं अजीबो गरीब कानून।
  • उत्तर कोरिया में नहीं पहन सकते हैं ब्लू जींस।
  • अपने मन के मुताबित नहीं रख सकते हैं हेयर स्टाइल।
  • घर में बाइबिल रखने पर होती है सजा।


डिजिटल डेस्क, नई दिल्ली। भारत में रहने वाले हर एक व्यक्ति को रहने, बोलने, अपने तरीके से जीने की स्वतंत्रता है। हर कोई अपनी जिंदगी जिस तरीके से जीना चाहता है जी सकता है, लेकिन उत्तर कोरिया में ऐसे नियम और कानून हैं, कि वहां रहने वाले लोग न तो अपने मन से बाल कटवा सकते हैं और न ही टीवी देख सकते। हम आपको नॉर्थ कोरिया के ऐसे अजीबो गरीब कानून के बारे में बताएंगे। जिन्हें जानकर आप भी हैरत में पड़ जाएंगे।

टीवी पर दिखाए जाते हैं सिर्फ तीन चैनल-  यहां की जनता को बाहरी दुनिया के बारे में ज्यादा जानकारी नहीं होती है। नॉर्थ कोरिया में टीवी पर सिर्फ तीन चैनल ही दिखाए जाते हैं। उत्तरी कोरिया में आप टीवी पर सिर्फ वही देख सकते हैं, जो वहां की सरकार दिखाना चाहती है। वहीं टीवी पर सिर्फ उत्तरी कोरिया के ही समाचार दिखाए जाते हैं। 

अपने मन मुताबिक नहीं रख सकते 'Hair style' - उत्तर कोरिया में लोग अपने मन के मुताबित हेयर स्टाइल नहीं रख सकते हैं। यहां की सरकार ने 28 तरह की हेयर स्टाइल को मान्यता दी है। इनमें से 10 पुरुषों के लिए और 18 महिलाओ के लिए लागू हैं। यह प्रतिबंध 2013 में तानाशाह किम जोंग- उन ने लगाया था। इन हेयर स्टाइल्स में किम की हेयर स्टाइल को शामिल नहीं हैं।

घर में बाइबिल रखी तो होगी सजा- उत्तर कोरिया में न तो आप बाइबिल पढ़ सकते हैं और ना ही अपने घर पर रख सकते हैं। अगर किसी ने ऐसा किया उसे सजा भुगतनी पड़ती है।

सरकार की अनुमित के बिना राजधानी में नहीं रह सकते लोग - तानाशाह किम जोंग चाहता है कि उत्तर कोरिया की राजधानी प्योंगप्यांग में सिर्फ सफल, ताकतवर और अमीर लोग ही रहें। इसलिए अगर कोई व्यक्ति राजधानी में रहना चाहता है या घर बनाना चाहता है तो उसे सरकार से अनुमति लेनी होगी। जिसके बाद ही वो प्योंगप्यांग में रह सकेगा।

एक अपराध के लिए तीन पीढ़ियों को सजा- उत्तर कोरिया में अगर कोई व्यक्ति अपराध करता है तो, इसकी सजा तो उसे मिलती ही है। उसके साथ-साथ उसकी आने वाली तीन पीढ़ियों को भी भुगतनी पड़ती है।

  • यहां पर लोगों को अखबार भी आसानी से नहीं मिलते हैं। बस स्टैंड पर अखबारों की कॉपी लगाई जाती है। जिसे अखबार पढ़ने के लिए यहां जाना पड़ता है।
     
  • यहां कोई भी आम आदमी कार नहीं रख सकता है। यहां की सरकार के अधिकारी और सेना अधिकारी को ही कार रखने की अनुमति है।
     
  • उत्तरी कोरिया में कोई भी ब्लू जींस नहीं पहन सकता है। इसके पीछे का कारण ये है की यहां की सरकार इसे अमेरिकी पहनावा मानती है।
     
  • उत्तरी कोरिया के नेता किम जोंग उन ने अपने अपने चाचा को नंगा करके 120 भूखे कुत्तो के पिंजरे में फिकवा दिया था।
     
  • यहां चौराहों पर ट्रैफिक सिग्नल की व्यवस्था नहीं है। पुलिसकर्मी इशारों से वाहनों को कंट्रोल करते हैं।


 

  • उत्तर कोरिया में एक ऐसा नियम लागू है जिसके चलते आप 8 जुलाई और 17 दिसंबर को खुशिया नहीं मना सकते हैं। 
     
  • आज पूरी दुनिया इंटरनेट पर काम कर रही है, लेकिन उत्तर कोरिया में लगभग 605 लोग ही इंटरनेट का यूज करते हैं।
     
  • नॉर्थ कोरिया की सरकार के आदेश के अनुसार यहां सभी मकानों के लिए सिर्फ भूरे रंग का ही इस्तेमाल कर सकते हैं।
     
  • नार्थ कोरिया के हर घर में सरकार नियंत्रित रेडियो लगाये गए हैं। लोग इस रेडियो को बंद नहीं कर सकते हैं।
     
  • बच्चों की स्कूल फीस के अलावा पैरेंट्स को उनके लिए टेबल, चेयर के लिए भी फीस देनी पड़ती है।


 

  • नॉर्थ कोरिया में सिर्फ एक ही इंटरनेट कंपनी है, जो कोरियन भाषा में इंटरनेट की सर्विस देती है।
     
  • यहां के नियम के अनुसार हर 5 साल में चुनाव होते हैं, लेकिन उम्मीदवार सिर्फ एक ही होता है।
     
  • उत्तर कोरिया में आप किसी भी गरीब की फोटो नहीं ले सकते हैं।


 

समाचार पर अपनी प्रतिक्रिया यहाँ दें l

ई-पेपर