comScore

J&K: सेना ने मारे 3 आतंकी, साइट पर ब्लास्ट में 5 सिविलियन की मौत, घाटी में तनाव

October 22nd, 2018 09:06 IST

हाईलाइट

  • सेना के 2 जवान भी मुठभेड़ में घायल
  • एनकाउंटर में मारे गए आतंकियों में 2 पाकिस्तानी
  • 10 स्थानीय लोगों को भी मामलू चोट आई

डिजिटल डेस्क, श्रीनगर। जम्मू-कश्मीर के कुलगाम जिले में आतंकियों और सेना के बीच बीच मुठभेड़ के बाद साइट एक बड़ा धमाका हो गया, जिसमें 5 सिविलियन की मौत हो गई। ब्लास्ट में कई लोग घायल भी बताए जा रहे हैं। बता दें कि मुठभेड़ के बाद जम्मू-कश्मीर पुलिस ने स्थानीय लोगों से एनकाउंटर साइट पर ना जाने की अपील की गई थी। पुलिस की अपील को दरकिनार करते हुए कई लोग मुठभेड़ साइट पर पहुंच गए थे। अचानक ही साइट पर ब्लास्ट हो गया, जिसमें 5 नागरिकों की मौत हो गई। 

इससे पहले कुलगाम में सेना और आतंकियों के बीच मुठभेड़ हुई, जिसमें सेना ने 3 आतंकियों को ढेर कर दिया था, हालांकि हमले में 2 जवान भी घायल हो गए थे। एनकाउंटर में मारे गए तीन आतंकियों में से 2 पाकिस्तानी और एक स्थानीय नागरिक थे। मुठभेड़ रविवार तड़के कुलगाम के लारनू क्षेत्र में हुई। 


सर्च अभियान के दौरान लारनू इलाके के एक घर में आतंकियों के छिपे होने की सूचना मिली थी, जिसके बाद सेना ने सर्च ऑपरेशन शुरू कर दिया। सेना ने इलाके को चारों तरफ से घेर लिया, जिसके बाद आतंकियों ने जवानों पर फायरिंग शुरू कर दी। इसके बाद आतंकियों और सेना के बीच मुठभेड़ शुरू हो गई, जिसमें 3 आतंकी मारे गए। इस फायरिंग में सेना के दो जवान भी घायल हो गए, जिनका अस्पताल में इलाज जारी है। सेना के ऑपरेशन में 10 लोगों को मामूली चोट भी आई हैं। 


एहतियात के तौर पर सेना ने मुठभेड़ स्थल से वाहनों की आवाजाही पर रोक लगा दी है। पुलिस के मुताबिक लारनू इलाके में पहले से ही तलाशी अभियान चल रहा है। रविवार को अचानक फायरिंग होने पर सेना ने मोर्चा संभाला, जिसके बाद 3 आतंकी ढेर हो गए।
 
 

कुलगाम में इंटरनेट बंद
मुठभेड़ के बाद प्रदर्शन की संभावना को देखते हुए सीआरपीएफ और पुलिस की अतिरिक्त टीमों को तैनात किया गया है। इसके साथ ही कुलगाम जिले में इंटरनेट सेवा भी आशिंक रूप से बंद कर दिया गया है। बता दें कि दक्षिण कश्मीर में आतंकियों के खिलाफ ऑपरेशन उस समय हुआ है, जब एक दिन पहले ही राज्य में निकाय चुनाव के परिणाम घोषित हुए हैं।

कमेंट करें
hPQmX