comScore

कैमरे की नजर से नहीं बच सकता कोई भी साक्ष्य - आईजी ने ली परिवीक्षाधीन उप निरीक्षकों की बैठक 

कैमरे की नजर से नहीं बच सकता कोई भी साक्ष्य - आईजी ने ली परिवीक्षाधीन उप निरीक्षकों की बैठक 

डिजिटल डेस्क जबलपुर । पुलिस मुख्यालय भोपाल के निर्देश पर जोन की जिला इकाइयों में पदस्थ 91 बैच के समस्त परिवीक्षाधीन सूबेदारों व उप निरीक्षकों की बैठक पुलिस कंट्रोल रूम में आईजी विवेक शर्मा ने ली। इस दौरान उन्होंने कहा कि प्रशिक्षण एक महत्वपूर्ण पड़ाव होता है। इस दौरान आपको प्रतिदिन विवेचना से सम्बंधित नये-नये तरीके सीखने को मिलते हैं। बैठक में उन्होंने सभी को मैदानी कार्य के संबंध में तार्किक समझाइश व सुझाव दिए। बैठक में एसपी अमित सिंह भी उपस्थित थे।
आपको कानून का अच्छा ज्ञान होना जरूरी  
उन्होंने कहा कि जब आपको कानून का अच्छा ज्ञान होगा तभी आप निर्भीक होकर कोई भी कार्यवाही कर सकेंगे। आपने  साइबर अपराधों की विवेचना के सम्बंध में कई महत्वपूर्ण जानकारियाँ दीं। उन्होंने बताया कि घटना की सूचना मिलने पर शीघ्र घटनास्थल पर पहुँचकर, सबसे पहले घटनास्थल को सुरक्षित करें फिर घटनास्थल का बारीकी से निरीक्षण करते हुये साक्ष्य संकलित करें। घटनास्थल की स्कैचिंग एवं फोटोग्राफी अवश्य करायें, क्योंकि एक सामान्य नजर से देखने पर कोई ऐसा भौतिक साक्ष्य छूट सकता है जो महत्वपूर्ण हो, लेकिन कैमरे की नजर से नहीं बच सकता, घटनास्थल क्या कह रहा है, भौतिक साक्ष्य क्या कह रहे हैं इसका बारीकी से अध्ययन करते हुये एक-दूसरे को जोड़ते हुये अपराधी तक पहुँचने का प्रयास करें, आपको निश्चित ही सफलता मिलेगी। बैठक में एएसपी डॉ. संजीव उइके भी मौजूद थे। बैठक के अंत में परिवीक्षाधीन उप निरीक्षकों द्वारा प्रशिक्षण के दौरान अब तक किये गये कार्यांे का अवलोकन कर आवश्यक दिशा-निर्देश दिये गये।
 

कमेंट करें
5uiJm