comScore

बालाकोट में पेड़ों को नष्ट करने पर भारतीय पायलटों के खिलाफ एफआईआर

March 09th, 2019 13:09 IST
बालाकोट में पेड़ों को नष्ट करने पर भारतीय पायलटों के खिलाफ एफआईआर

हाईलाइट

  • भारतीय वायुसेना पर बालाकोट हमले को लेकर एफआईआर।
  • पाकिस्तान का दावा वायुसेना ने पर्यावरण के पहुंचाया नुकसान।
  • पाक ने भारत पर पर्यावरण आतंकवाद का आरोप भी लगाया।

डिजिटल डेस्क, इस्लामाबाद। भारतीय वायुसेना ने पुलवामा आतंकी हमले का बदला लेते हुए बालाकोट में घुसकर जैश के आतंकी कैंप को ध्वस्त किया। इधर पाकिस्तान दावा कर रहा कि भारतीय वायुसेना ने सिर्फ पेड़ों को नुकसान पहुंचाया है। वहीं उसने बालाकोट में हमले और 19 पेड़ों को नष्ट करने के लिए भारतीय वायुसेना के अज्ञात पायलटों के खिलाफ एफआईआर दर्ज की है। 

पाकिस्तान मीडिया रिपोर्ट के अनुसार, वनीकरण विभाग ने भारतीय वायुसेना के अज्ञात पायलटों के खिलाफ एफआईआर दर्ज की है और बम के कारण 19 पेड़ों को हुए नुकसान का विवरण भी दिया है। रिपोर्ट के मुताबिक, इस्लामाबाद ने संयुक्त राष्ट्र में भी भारत के खिलाफ शिकायत दर्ज कराने की योजना बनई है। वहीं नई दिल्ली पर पर्यावरण आतंकवाद का आरोप लगाया है। 

पाकिस्तान जयवायु परिवर्तन मंत्री मलिक अमीन असलम ने कहा कि भारतीय वायुसेना के विमानों ने बालाकोट के जाबा टॉप के पर्वतीय क्षेत्र पर बमबारी की है। विमानों ने आरक्षित श्रेणी में आने वाले वन क्षेत्र को निशाना बनाया है। पाक सरकार इसे हुए नुकसान और पर्यावरणीय प्रभाव का आकलन कर रही है। जिसके आधार पर संयुक्त राष्ट्र और अन्य मंचों पर शिकायत दर्ज की जाएगी। 

असलम ने कहा कि बालाकोट में जो हुआ, वह एक पर्यावरणीय आतंकवाद है। विमानों की बमबारी से  दर्जनों पेड़ गिरे और पर्यावरण को भारी नुकसान हुआ है। संयुक्त राष्ट्र ने भी माना है कि सैन्य जरूरतों के लिए पर्यावरण को नुकसान नहीं पहुंचाया जा सकता। 
 

बता दें कि भारतीय वायुसेना ने 26 फरवरी को पीओके के बालाकोट स्थित आतंकी संगठन जैश-ए-मोहम्मद के ठिकानों पर बमबारी की थी। यह कार्रवाई जम्मू-कश्मीर के पुलवामा में सीआरपीएफ के काफिले पर हुए आत्मघाती हमले के जवाब में किया गया था। पुलवामा में हमलें में सीआरपीएफ के 40 जवान शहीद हो गए।
 

कमेंट करें
nf1Zh