comScore

जज विवाद : ठाकरे ब्रदर्स ने मोदी सरकार को घेरा, उद्धव बोले- लोकतंत्र ध्वस्त हो जाएगा

January 14th, 2018 00:30 IST
जज विवाद : ठाकरे ब्रदर्स ने मोदी सरकार को घेरा, उद्धव बोले- लोकतंत्र ध्वस्त हो जाएगा

डिजिटल डेस्क, मुंबई। सुप्रीम कोर्ट के 4 वरिष्ठ जजों ने चीफ जस्टिस दीपक मिश्रा पर गंभीर आरोप लगाते हुए लोकतंत्र को खतरा बताया था। इस विवाद पर महाराष्ट्र के ठाकरे ब्रदर्स ने मोदी सरकार को घेरते हुए जमकर तंज कसे हैं। एक तरफ मनसे अध्यक्ष राज ठाकरे ने शुक्रवार को ही बयान जारी कर 4 जजों के इन सवालों को लोकतंत्र के लिए खतरनाक बताया। जबकि शनिवार को शिवसेना के मुखिया उद्धव ठाकरे ने लोकतंत्र के सभी 4 स्तंभों को स्वंतत्रता से खड़ा रहने की हिमायत की है।

सुप्रीम कोर्ट विवाद को लेकर महाराष्ट्र में बीजेपी के साथ सरकार में शामिल शिवसेना के मुखिया उद्धव ठाकरे ने भी मोदी सरकार पर तीखा तंज कसा है। उद्धव ठाकरे ने कहा है कि कल जो कुछ भी हुआ, वह परेशान करने वाला है। सुप्रीम कोर्ट के 4 जजों के खिलाफ कार्रवाई शुरू की जा सकती है, लेकिन हमें यह भी सोचना होगा कि उन्हें ऐसा कदम क्यों उठाना पड़ा। लोकतंत्र के सभी 4 स्तंभों को स्वंतत्रता से खड़ा रहना चाहिए, यदि वे एक दूसरे में गिरते हैं तो यह ध्वस्त हो जाएगा।

मनसे अध्यक्ष राज ठाकरे ने जज विवाद को लेकर शुक्रवार को ही अपना स्टैंड साफ कर दिया था। राज ने केंद्र सरकार पर निशाने साधते हुए कहा है कि देश अराजकता की ओर बढ़ रहा है। यह लोकतंत्र के लिए खतरनाक है। उन्होंने कहा कि सुप्रीम कोर्ट के चार जजों के बयान से स्पष्ट हो गया है कि न्याय व्यवस्था में केंद्र सरकार का हस्तक्षेप है। राज ने कहा कि पूर्व केंद्रीय मंत्री अरुण शौरी ने एकदम सही कहा था कि देश को केवल ढाई आदमी चला रहे हैं।

देश अराजकता की तरफ बढ़ रहा
शुक्रवार को रत्नागिरी में पत्रकारों से बातचीत में राज ने केंद्र की मोदी सरकार की आलोचना करते हुए कहा कि गुजरात चुनाव से सभी को पता चल गया कि केंद्रीय निर्वाचन आयोग को केंद्र सरकार चला रही है। लेकिन अब न्याय व्यवस्था की हकीकत भी सामने आ गई है। राज ने कहा कि केंद्र सरकार सभी जगहों पर अपना नियंत्रण रखना चाहती है। इसलिए सुप्रीम कोर्ट के जजों के लिए भी न्याय मांगने की नौबत आ गई है।

अब यह बड़ा सवाल है कि अब न्याय किससे मांगा जाए। राज ने कहा कि यह पूरा प्रकरण सरकार को भारी पड़ेगा। सुप्रीम कोर्ट के चारों जजों द्वारा सीधे मीडिया के सामने आने पर उठाए जा रहे सवाल पर राज ने कहा कि उन जजों पर क्या बीती होगी कि वे मीडिया के सामने आने के लिए मजबूर हुए हैं। हमको इस पहलू के बारे में भी सोचना चाहिए।

कमेंट करें
iPVya