comScore

बीजेपी MLA बोले- अब कार्यकर्ता कश्मीर की गोरी लड़कियों से कर सकेंगे शादी


हाईलाइट

  • भाजपा विधायक विक्रम सैनी ने अनुच्छेद 370 हटाए जाने को लेकर दिया विवादित बयान
  • विधायक ने कहा- देश के मुसलमान अब बिना डर के गोरी कश्मीरी लड़कियों से शादी कर सकेंगे

डिजिटल डेस्क, मुजफ्फरनगर। (आईएएनएस)। अपने विवादित बयानों को लेकर सुर्खियों में रहने वाले बीजेपी विधायक विक्रम सैनी ने एक बार फिर बड़ा बयान दिया है। उत्तर प्रदेश के मुजफ्फरनगर में बीजेपी विधायक विक्रम सैनी ने जम्मू-कश्मीर से धारा 370 हटाए जाने को लेकर एक चौंकाने वाला बयान दिया है। सैनी ने कहा कि, अनुच्छेद 370 को खत्म करने से पार्टी के कार्यकत्ता काफी उत्साहित हैं, क्योंकि अब वे गोरी कश्मीरी लड़कियों से शादी कर सकेंगे। उन्होंने कहा, देश के मुसलमानों को खुश होना चाहिए क्योंकि अब वे बिना किसी डर के कश्मीर की गोरी लड़कियों से शादी कर सकते हैं। बीजेपी के कुंवारे नेता भी अब कश्मीर जाकर वहां प्लॉट खरीद सकते हैं और वहां की लड़कियों से शादी कर सकते हैं।

दरअसल मोदी सरकार ने सोमवार को अपने ऐतिहासिक फैसले में अनुच्छेद 370 को हटाते हुए जम्मू कश्मीर से एक राज्य का दर्जा भी वापस ले लिया है। अब वह एक केंद्र शासित प्रदेश है। इसे दो हिस्सों में बांटा गया है। पहला हिस्सा जम्मू कश्मीर और दूसरा लद्दाख है। केंद्र सरकार ने राज्यसभा के बाद मंगलवार को लोकसभा में जम्मू कश्मीर से अनुच्छेद 370 हटाए जाने का प्रस्ताव पेश किया, जिसे बहुमत से पारित किया गया। 

जम्मू -कश्मीर से विशेष राज्य का दर्जा हटाने की खुशी मनाने के लिए मुजफ्फरनगर में आयोजित एक कार्यक्रम के दौरान खतौली के बीजेपी विधायक विक्रम सैनी ने धारा 370 पर प्रतिक्रिया देते हुए कहा, मोदी जी ने हम सभी के सपनों को साकार किया है। बीजेपी के जो भी कुंवारे नेता हैं, वे अब कश्मीर जाकर शादी कर सकते हैं, हमें इसमें कोई ऐतराज नहीं है। इतना ही नहीं बीजेपी के मुस्लिम कार्यकर्ताओं को तो खुश होना चाहिए कि वे अब गोरी कश्मीरी लड़कियों से शादी कर सकेंगे।

सैनी ने लोगों को संबोधित करते हुए कहा, कार्यकर्ता काफी उत्साहित हैं और जो अविवाहित हैं, अब वे वहां शादी कर सकते हैं। इसमें अब कोई समस्या नहीं है। पहले वहां महिलाओं पर बहुत अत्याचार होते थे। पहले अगर कश्मीरी लड़की उत्तर प्रदेश के किसी लड़के से शादी करती, तो वहां की उसकी नागरिकता रद्द कर दी जाती। भारत और कश्मीर की नागरिकता में काफी भिन्नता है। सभी को इसका उत्सव मनाना चाहिए, चाहे वह हिंदू हो या मुसलमान। बाद में उनके बयान को लेकर सवाल पूछे जाने पर विधायक ने कहा, उन्होंने कुछ भी आपत्तिजनक नहीं कहा है।

कमेंट करें
szQ5H