comScore
Dainik Bhaskar Hindi

सिंगापुर के रक्षा मंत्री ने तेजस से उड़ान भरी, कहा 'शानदार एयरक्राफ्ट'

BhaskarHindi.com | Last Modified - November 29th, 2017 18:03 IST

720
0
0

डिजिटल डेस्क, खड़गपुर भारत के बेहतरीन लड़ाकू विमानों में से एक 'तेजस' सिंगापुर के रक्षा मंत्री भा गया है। मंगलवार को रक्षा मंत्री एनई हेन ने भारत के स्वदेश निर्मित बहुद्देशीय हल्के लड़ाकू विमान तेजस को 'शानदार और बहुत प्रभावशाली' बताया। हेन ने पश्चिम बंगाल के कलाईकुंडा हवाई अड्डे पर पहले विदेशी नागरिक के तौर पर तेजस में करीब आधे घंटे तक उड़ान भरी। इस उड़ान के बाद संवाददाताओं से कहा कि ये शानदार एयरक्राफ्ट है। मैं इससे काफी प्रभावित हुआ हूं। उन्होंने एयर वाइस मार्शल एपी सिंह और तेजस उड़ाने वाले पायलट की प्रशंसा करते हुए कहा कि उन्हें ऐसा महसूस हुआ कि जैसे वो लड़ाकू विमान में नहीं बल्कि कार में सवार हैं। ये पूछने पर कि क्या सिंगापुर तेजस लड़ाकू विमान खरीदने का इच्छुक है, हेन ने कहा कि वो पायलट नहीं हैं और इस बारे में तकनीकी रूप से जानकार लोगों को निर्णय करना है।

                             

ये भी पढ़ें-रिवाल्वर लेकर तेंदुए को मारने निकल पड़े महाराष्ट्र के मिनिस्टर, विपक्ष ने कहा 'बंदूकबाज मंत्री'

वायु सेना अधिकारियों की ओर से कहा गया कि संयुक्त सैन्य प्रशिक्षण कुछ ही दिनों में कलाईकुंडा में शुरू होने वाला है। जिसमें आरएसएएफ पायलट अपने एफ-16 और आइएएफ के सुखोई-30 को उड़ाने की तैयारी कर रहे हैं। कलाईकुंडा एयरबेस में भारतीय वायुसेना(आइएएफ) के जवान रिपब्लिक ऑफ सिंगापुर एयर फोर्स (आरएसएएफ) के साथ संयुक्त युद्धाभ्यास करेंगे। भारतीय रक्षा विभाग के सूत्रों ने कहा कि सिंगापुर ने तेजस में रुचि दिखाई है। रक्षा विभाग के सूत्रों ने कहा कि बहरीन एयर शो में तेजस विमान का प्रदर्शन किया गया था, जहां पश्चिम एशिया के कुछ देशों ने भी इसमें रूचि दिखाई थी। सिंगापुर के रक्षा मंत्री के समक्ष प्रदर्शन के लिए बेंगलुरू से दो तेजस विमानों ने यहां के लिए उड़ान भरी थी।हेन ने भारतीय वायु सेना की प्रोफेशनल ट्रेनिंग की प्रशंसा करते हुए कहा कि इससे दोनों देशों के बीच सैन्य सहयोग के संबंध और अधिक मजबूत होंगे। वहीं बुधवार को भारत और सिंगापुर के बीच नौसैनिक क्षेत्र में समझौते पर हस्ताक्षर हो सकता है।

समाचार पर अपनी प्रतिक्रिया यहाँ दें l

ये भी देखें

ई-पेपर