comScore

रिवाल्वर लेकर तेंदुए को मारने निकल पड़े महाराष्ट्र के मिनिस्टर, विपक्ष ने कहा 'बंदूकबाज मंत्री'

November 28th, 2017 22:23 IST
रिवाल्वर लेकर तेंदुए को मारने निकल पड़े महाराष्ट्र के मिनिस्टर, विपक्ष ने कहा 'बंदूकबाज मंत्री'

डिजिटल डेस्क, मुंबई। अक्सर विवादों में रहने वाले राज्य के जलसंसाधन मंत्री गिरीश महाजन एक बार फिर से विपक्ष के निशाने पर हैं। प्रदेश कांग्रेस और एनसीपी ने महाजन को बंदूकबाज मंत्री बताते हुए उन्हें मंत्रीमंडल से हटाए जाने की मांग की है। आरोप है कि मंत्री महाजन ने अपने गृह क्षेत्र में तेंदुए को मारने के लिए रिवाल्वर लेकर पहुंचे थे। विपक्ष ने इसे वन्य जीव कानून के तहत अपराध बताया है। हालांकि महाजन ने आरोपों को गलत बताते हुए कहा है कि वे शाकाहारी हैं और आज तक एक चिड़िया नहीं मारी है। 

बंदूकबाज मंत्री के खिलाफ कांग्रेस 
प्रदेश कांग्रेस के प्रवक्ता सचिन सांवत ने कहा कि बार-बार बंदूक का प्रदर्शन करने बंदूकबाज मंत्री के खिलाफ एफआईआर दर्ज होनी चाहिए। सावंत ने कहा कि महाजन को मंत्रीमंडल से बाहर किया जाए। उन्होंने कहा कि एक मंत्री का इस तरह सार्वजनिक रुप से बंदूक लेकर प्रदर्शन करना उचित नहीं। कांग्रेस नेता ने कहा कि इसके पहले महाजन दिव्यांगों के स्कूल में रिवाल्वर लेकर पहुंच गए थे।पिछले दिनों महाजन फरार माफिया दाऊद इब्राहिम के रिश्तेदार की शादी समारोह में भी शामिल हुए थे। सावंत ने कहा कि मुख्यमंत्री को चाहिए कि वे महाजन को मंत्री पद से मुक्त कर दें। जिससे वे हॉलीवुड जाकर स्टंटबाजी कर सकें। राष्ट्रवादी कांग्रेस  पार्टी के प्रवक्ता नवाब मलिक ने जलसंसाधन मंत्री महाजन के रवैए को गैरजिम्मेदाराना बताते हुए कहा कि उन्होंने वन्य जीव अधिनियम का उलंघन किया है। इस लिए उनके खिलाफ मामला दर्ज किया जाना चाहिए।

 क्या है मामला ?
दरअसल महाजन के गृह क्षेत्र जलगांव में पिछले कई दिनों से एक तेंदुए का आंतक है। मंत्री महाजन के दौरे के समय उन्हें पास में ही तेंदुए के होने की जानकारी मिली तो वे भी अपनी लाईसेंसी रिवाल्वर हाथ में लेकर पहुंच गए। इसका वीडियो वायरल हो गया। इस पर मंत्री महाजन ने कहा कि तेंदुए को लेकर मचे शोर के बाद लोगों की सुरक्षा का ख्याल कर मैं गाडी से नीचे उतरा था। ऐसी परिस्थिति में यदि मैं कार में ही बैठा रहता तो उसको लेकर भी मेरी आलोचना होती। 

कमेंट करें
E2vNR