comScore

अमेठी हत्या : पुलिस ने किया तीन आरोपियों को गिरफ्तार, दो की तलाश जारी

अमेठी हत्या : पुलिस ने किया तीन आरोपियों को गिरफ्तार, दो की तलाश जारी

हाईलाइट

  • अमेठी हत्या के मामले में पुलिस ने पांच में से तीन संदिग्धों को सोमवार को गिरफ्तार कर लिया
  • FIR में पांच आरोपियों का नाम है और अन्य अज्ञात ग्रामीणों का जिक्र किया गया है
  • सुरेन्द्र सिंह ने लोकसभा चुनाव में स्मृति ईरानी के लिए प्रचार किया था

डिजिटल डेस्क, अमेठी। अमेठी में भाजपा कार्यकर्ता सुरेन्द्र सिंह की हत्या के मामले में पुलिस ने पांच में से तीन संदिग्धों को सोमवार को गिरफ्तार कर लिया। FIR में पांच आरोपियों का नाम है और अन्य अज्ञात ग्रामीणों का जिक्र किया गया है। सुरेन्द्र सिंह ने लोकसभा चुनाव में स्मृति ईरानी के लिए प्रचार किया था। वह ईरानी के करीबी माने जाते थे।

उत्तर प्रदेश के पुलिस महानिदेशक (डीजीपी) ओपी सिंह ने कहा, 'हमने अमेठी हत्या मामले में तीन संदिग्धों को गिरफ्तार किया है, जबकि दो संदिग्ध अभी भी फरार हैं।' सुरेंद्र सिंह की शनिवार देर रात गोली मारकर हत्या कर दी गई थी, जब वह बरौलिया गांव में अपने घर के बाहर सो रहे थे।

डीजीपी ने कहा, 'सात लोगों को हिरासत में लिया गया था और उनसे पूछताछ की गई। उन लोगों में तीन ऐसे थे जो घटना से जुड़े हुए थे।' बता दें कि उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने यूपी डीजीपी को 'गंभीर' और 'प्रभावी' कार्रवाई करने और 12 घंटे के भीतर दोषियों को गिरफ्तार करने का निर्देश दिया था।

50 वर्षीय सुरेन्द्र सिंह गांव के पूर्व प्रधान थे। परिवार के सदस्यों ने सुरेन्द्र सिंह की हत्या में कांग्रेस से जुड़े स्थानीय लोगों का हाथ होने का आरोप लगाया था जिनसे उनकी पुरानी दुश्मनी थी।

अमेठी के पुलिस अधीक्षक राजेश कुमार ने कहा था कि प्रथम दृष्टया ये लगता है कि हत्या का ये मामला सिंह और कुछ स्थानीय लोगों के बीच पुराने विवाद का नतीजा है।

ईरानी, ​​जो अन्य भाजपा नेताओं के साथ गांव में पहुंची और अंतिम संस्कार के लिए सिंह के शव को ले जाने में मदद की, ने कहा था कि उन्हें मार दिया गया ताकि अमेठी को आतंकित किया जा सके। उन्होंने उस व्यक्ति के खिलाफ कार्रवाई का वादा किया जिसने सिंह की हत्या करने के लिए ट्रिगर दबाया था और जिसने हत्या का आदेश दिया था।'

पार्टी कार्यकर्ताओं से 'संयम बरतने' के लिए कहते हुए, अमेठी से राहुल को हराने के बाद ईरानी ने कांग्रेस अध्यक्ष की टिप्पणी पर सवाल उठाया। उन्होंने कहा, 23 मई को मुझे संदेश दिया गया कि अमेठी को प्यार से संभालो। जिस व्यक्ति ने मुझे संदेश दिया है, मैं कहना चाहूंगी कि मुझे संदेश जोर से और स्पष्ट रूप से मिला है।

राहुल गांधी ने कहा था, 'मैं चाहूंगा कि स्मृति ईरानी अमेठी को प्यार से संभालें और मुझे उम्मीद है कि जिस विश्वास के साथ अमेठी के लोगोंने ने उन्हें चुना है उनका वह विश्वास नहीं तोड़ेंगी।'

कमेंट करें
lru17