comScore

हिंदू विरोधी दंगे के आरोपियों पर ईश निंदा कानून के तहत कार्रवाई हो: पाक हिंदू काउंसिल

September 18th, 2019 09:33 IST
हिंदू विरोधी दंगे के आरोपियों पर ईश निंदा कानून के तहत कार्रवाई हो: पाक हिंदू काउंसिल

हाईलाइट

  • सिंध के घोटकी में हिंदू समुदाय के घरों और मंदिर पर हमले के आरोपियों के खिलाफ ईश निंदा कानून के तहत कार्रवाई की मांग

डिजिटल डेस्क, इस्लामाबाद। पाकिस्तान हिंदू परिषद ने सिंध के घोटकी में हिंदू समुदाय के घरों और मंदिर पर हमले के आरोपियों के खिलाफ ईश निंदा कानून के तहत कार्रवाई की मांग की है। पाकिस्तानी मीडिया में प्रकाशित रिपोर्ट के अनुसार, परिषद के प्रमुख व सांसद डॉ. रमेश कुमार वांक्वानी ने एक प्रेस कांफ्रेंस में दंगे के खिलाफ प्रधानमंत्री इमरान खान की चुप्पी पर सवाल उठाया।

उन्होंने कहा कि यह अफसोस की बात है कि एक कम उम्र छात्र पाठ याद नहीं होने पर शिक्षक से मिलने वाली डांट को धार्मिक फसाद का मामला बना देता है। उन्होंने कहा कि एक बच्चे की बिना किसी सबूत के कही गई बातों में आकर पूरे हिंदू समुदाय पर भीड़ द्वारा हमला कर देना इस्लामी शिक्षा के खिलाफ है। उन्होंने सरकार से मांग की कि चरमपंथी तत्वों के खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाए ताकि भविष्य में कोई फिर धर्म की आड़ में दंगा करने की हिम्मत न कर सके।

वांक्वानी ने कहा कि पाकिस्तान का हिंदू समुदाय सभी धर्मो के सम्मान में यकीन रखता है और किसी पवित्र हस्ती के अपमान के बारे में सोच भी नहीं सकता। समुदाय ने पाकिस्तान की तरक्की में खास भूमिका निभाई है। हिंदू जवानों ने सेना की तरफ से लड़ते हुए जानें दी हैं।

उन्होंने कहा कि कुछ तत्व सिंध में सदियों से चले आ रहे धार्मिक सद्भाव को बिगाड़ना चाहते हैं। ऐसे हालात होते जा रहे हैं कि हिंदू समुदाय के लिए पढ़ना-पढ़ाना मुश्किल होता जा रहा है। उन्होंने शांति पसंद करने वाले पाकिस्तानियों, धार्मिक नेताओं और उलेमा से समाज में शांति बनाए रखने के लिए पहल करने की अपील की।

घोटकी में रविवार को इस बात के फैलने के बाद हिंदू समुदाय पर हमले किए गए कि एक हिंदू प्रधानाचार्य ने मोहम्मद साहब के बारे में विवादित टिप्पणी की है। हालांकि, यह आरोप लगाने वाले छात्र ने बाद में माना कि प्रधानाचार्य ने ऐसा कुछ नहीं कहा था, उसे पाठ याद नहीं था जिस पर उसे प्रधानाचार्य ने डांटा था और उसने गुस्से में आकर यह आरोप लगा दिया।

कमेंट करें
md1bf