comScore

मुझे हराने के लिए अमेरिकी चुनावों में हस्तक्षेप की कोशिश कर रहा है चीन : डोनाल्ड ट्रंप

September 27th, 2018 00:48 IST
मुझे हराने के लिए अमेरिकी चुनावों में हस्तक्षेप की कोशिश कर रहा है चीन : डोनाल्ड ट्रंप

हाईलाइट

  • अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने चीन पर हमला किया है।
  • ट्रंप ने चीन पर आरोप लगाते हुए कहा है कि वह मेरे प्रशासन के खिलाफ है।
  • ट्रंप राष्ट्रपति बनने के बाद पहली बार इस मीटिंग की अध्यक्षता कर रहे थे।

डिजिटल डेस्क, न्यूयॉर्क। अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने यूनाइटेड नेशन सिक्योरिटी काउंसिल (UNSC) की मीटिंग में चीन पर निशाना साधा है। ट्रंप ने चीन पर आरोप लगाते हुए कहा है कि वह मेरे प्रशासन के खिलाफ है। उन्होंने कहा कि चीन नवंबर, 2018 में होने वाले आगामी यूएस कांग्रेस चुनावों में हस्तक्षेप करने का प्रयास कर रहा है। ट्रंप राष्ट्रपति बनने के बाद पहली बार इस मीटिंग की अध्यक्षता कर रहे थे। हालांकि ट्रंप ने इस बयान को लेकर कोई तथ्य पेश नहीं किया। इसके बाद चीन ने इसी मीटिंग में उनके इस आरोप को सरासर झूठा करार दिया। ट्रंप ने इस मीटिंग में नॉर्थ कोरिया, ईरान और रूस पर भी बात की।

ट्रंप ने कहा, 'चीन मुझे या मेरी पार्टी को जीतते हुए नहीं देखना चाहता क्योंकि उनको ट्रेड पर चुनौती देने वाला मैं पहला राष्ट्रपति हूं। इतना ही नहीं हम इस ट्रेड वॉर में जीत भी रहे हैं। हम सभी प्रकार से और हर स्तर पर जीत रहे हैं। हम नहीं चाहते हैं कि चीन हमारे आने वाले चुनाव में हस्तक्षेप करे।'

ट्रंप के आरोप का जवाब देते हुए चीन के विदेश मंत्री वांग यी ने कहा, 'चीन ने हमेशा किसी देश के निजी मामलों में हस्तक्षेप न करने की नीति का समर्थन किया है। हमने किसी भी देश के आंतरिक मामलों में न तो कभी हस्तक्षेप किया है न ही कभी करेंगे। हम हस्तक्षेप करने के ऐसे किसी भी आरोप को स्वीकार करने से इंकार करते हैं और इसका विरोध करते हैं।'

ट्रंप का चीन पर जवाब उस वक्त आया है जब इन दो देशों के बीच ट्रेड वॉर चल रहा है। अमेरिका ने चीन से आयात हो रहे सामानों पर भारी-भरकम शुल्क लगाया था। इसके बाद चीन ने भी डॉलर का बदला डॉलर से लेने के लिए अपना रुख साफ करते हुए निर्यात पर शुल्क बढ़ा दिया था। इतना ही नहीं हाल ही में अमेरिकी विदेश मंत्रालय ने चीनी सेना पर भी प्रतिबंध लगा दिया था। अमेरिका ने चीन पर आरोप लगाते हुए कहा था कि चीन की सेना ने CAATSA का उल्लंघन किया है। मंत्रालय ने कहा कि अमेरिका ने यह प्रतिबंध चीन द्वारा रूस से SU-35 कॉम्बेट एयरक्राफ्ट और S-400 एयर मिसाइल खरीदने को लेकर लगाया है।

सीरिया में हो रहे हमले के लिए ईरान और रूस जिम्मेदार
ट्रंप ने इसके साथ ही नॉर्थ कोरिया से हुई न्यूक्लियर डील समझौते पर भी विचार रखा। उन्होंने कहा कि नॉर्थ कोरिया शांति चाहता है और हम भी यही चाहते हैं।  ट्रंप ने इस दौरान ईरान से 2015 में हुए समझौते से पीछे हटने को लेकर भी बात की। उन्होंने सीरिया में हो रहे सिविल वॉर के लिए ईरान और रूस को जिम्मेदार ठहराया है। ट्रंप ने कहा कि जब सीरिया के राष्ट्रपति बशर-अल-असद अपने ही देश के लोगों पर रासायनिक हथियार इस्तेमाल कर रहे थे, तब अमेरिका ने असद की सरकार पर दो बार हवाई हमले किए। 

कमेंट करें
BWrCM