comScore

हमें अश्विन और जडेजा पर दवाब बनाना होगा : डु प्लेसिस

October 09th, 2019 17:00 IST
 हमें अश्विन और जडेजा पर दवाब बनाना होगा : डु प्लेसिस

पुणे, 9 अक्टूबर (आईएएनएस)। दक्षिण अफ्रीका टीम के कप्तान फाफ डु प्लेसिस ने कहा है कि टीम को यहां गुरुवार से शुरू हो रहे दूसरे टेस्ट मैच में भारत के दो मुख्य स्पिनरों- रविचंद्रन अश्विन और रवींद्र जडेजा पर दबाव बनाना होगा।

दक्षिण अफ्रीका को पहले टेस्ट मैच में भारत ने 203 रनों से मात दे तीन मैचों की सीरीज में 1-0 की बढ़त ले ली थी।

दूसरे मैच से पहले डु प्लेसिस ने कहा, मुझे लगता है कि 2015 के मुकाबले पहली पारी हमारे लिए बड़ा अंतर है।

उन्होंने कहा, आप भारत की स्पिन पिचों पर संघर्ष करते हैं और इसके साथ आप ज्यादा डिफेंसिव हो जाते हैं। इससे विपक्षी को आपके ऊपर हावी होने का समय मिल जाता है। दबाव को वापस गेंदबाजी टीम पर डालने के लिए सकारात्मक खेल, कुछ जगह जोखिम लेना जरूरी होता है।

उन्होंने कहा, वहीं रिकार्ड अपनी कहानी खुद बयां करते हैं। खासकर स्पिन में लेकर उन दोनों (अश्विन और जडेजा) ने काफी अच्छा किया है। इसलिए आपको कोशिश करनी होगी कि आप उन पर दबाव डालें। अन्यथा यह दोनों लगातार अच्छी गेंदबाजी करेंगे और एक-दो गेंद पर आपका विकेट ले जाएंगे। उपमहाद्वीप में आक्रमण और रक्षात्मक खेल में संतुलन बनाना होता है।

डु प्लेसिस ने पहले टेस्ट मैच की दूसरी पारी में पांच विकेट लेने वाले भारतीय गेंदबाज मोहम्मद शमी की भी तारीफ की है।

डु प्लेसिस ने कहा, मुझे लगता है कि उन्होंने पहली पारी की तुलना में दूसरी पारी में काफी तेजी के साथ गेंदबाजी की। वह पांचवें दिन का विकेट था इसलिए उनको इसका भी फायदा मिला, लेकिन उनकी गेंदबाजी में काफी आक्रामकता थी। गर्मी में आपको शॉर्ट स्पैल डालने होते हैं लेकिन जब आप गेंदबाजी करते हो तो आप इस बात को सुनिश्चित करते हो कि आप काफी आक्रामकता के साथ गेंदबाजी करें और उसका ज्यादा से ज्यादा फायदा उठाएं।

पुणे की पिच का इतिहास अच्छा नहीं रहा है। इससे पहले इस मैदान पर फरवरी-2017 में भारत और आस्ट्रेलिया के बीच जो मैच खेला गया था उसमें काफी विवाद हुआ था। आईसीसी ने पिच को खराब पिच की संज्ञा दे दी थी।

उन्होंने कहा, दक्षिण अफ्रीका में अगर आपको औसत से कम दर्जे की पिच मिलती है तो आपको इसके लिए चेतावनी मिल जाती है। अब यहां आपके अंक काट लिए जाएंगे। घरेलू परिस्थतियों को ध्यान में रखते हुए, मुझे लगता है कि 2015 में जो विकेट बनाई गई थी वैसी विकेट बनाना सही नहीं है। भारतीय स्थितियों को जानते हुए, मैं समझता हूं कि विकेट थोड़ी लाल रहेगी जिससे मुझे स्पिनरों को मदद मिलने की उम्मीद है वो भी पहले टेस्ट मैच से ज्यादा।

कमेंट करें
yNjV9