भाजपा ने लगाई सेंध: जम्मू में कांग्रेस को लगा बड़ा झटका, गुलाम नबी आजाद के भतीजे ने थामा बीजेपी का दामन

February 27th, 2022

डिजिटल डेस्क, श्रीनगर। जम्मू कश्मीर में रविवार को कांग्रेस के वरिष्ठ नेता गुलाम नबी आजाद के भतीजे मुबश्शिर आजाद ने बीजेपी का दामन थाम लिया है। इस दौरान मुबश्शिर आजाद ने कहा कि वो प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के जमीनी स्तर पर किए गए कार्यो से काफी प्रभावित हैं।

गुलाम नबी आजाद के सबसे छोटे भाई लियाकत अली के बेटे मुबश्शिर आजाद ने यह भी कहा कि कांग्रेस में उनके चाचा का अपमान हुआ है। जिससे उन्हें काफी दुख हुआ है, जिसकी वजह से उन्होंने कांग्रेस पार्टी से नाता तोड़ लिया है। मुबश्शिर ने कहा कि बीजेपी में शामिल होने की योजना को लेकर उन्होंने चाचा गुलाम नबी आजाद से चर्चा नहीं की है। माना जा रहा है कि बीजेपी ने जम्मू कश्मीर में कांग्रेस में बड़ी सेंधमारी की है।

इन लोगों ने किया मुबश्शिर का स्वागत

कांग्रेस छोड़ बीजेपी से नाता जोड़ने वाले मुबश्शिर आजाद और उनके समर्थकों का बीजेपी की जम्मू कश्मीर इकाई के अध्यक्ष रविंदर रैना औऱ पूर्व विधायक दलीप सिंह परिहार सहित अन्य वरिष्ठ नेताओं ने पार्टी में स्वागत किया। रविंदर रैना ने मुबश्शिर के भाजपा में शामिल होने को एक निर्णायक मोड बताया।

जो चिनाब घाटी क्षेत्र के डोडा, किश्तवाड़ और रामबन जिलों के युवा कार्यकर्ताओं के लिए पार्टी में शामिल होने का मार्ग प्रशस्त करेगा। उन्होंने कहा, भाजपा विपक्षी दलों के राजनीतिक नेताओं, हिंदू, मुस्लिम, गुर्जर, बकरवाल और पहाड़ी सभी समुदायों के सामाजिक कार्यकर्ताओं को अपने साथ लाकर तेजी से आगे बढ़ रही है। उन्होंने कहा कि जम्मू कश्मीर में अब भाजपा नई मजबूती के साथ आगे बढ़ेगी।

कांग्रेस को घेरा तो वहीं मोदी की तारीफ में पढ़े कसीदे

भाजपा में शामिल होने के बाद मुबश्शिर आजाद ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की तारीफ में खूब कसीदे पढ़े। उन्होंने कहा कि कांग्रेस पार्टी अंदरूनी कलह से जूझ रही है। जबकि पीएम मोदी जमीन पर लोगों के कल्याण का काम कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि कांग्रेस ने पार्टी के करिश्माई नेताओं में शुमार पूर्व मुख्यमंत्री (गुलाम नबी) आजाद के साथ जिस तरह का व्यवहार किया, उससे आम जनता की भावनाओं को ठेस पहुंची है।

उन्होंने कहा कि कांग्रेस ने पार्टी के करिश्माई नेताओं में शुमार पूर्व मुख्यमंत्री (गुलाम नबी) आजाद के साथ जिस तरह का व्यवहार किया, उससे आम जनता की भावनाओं को ठेस पहुंची है। गौरतलब है कि मुबश्शिर अपने चाचा गुलाम नबी आजाद के कांग्रेस पार्टी में उपेक्षा से काफी नाराज है।