दैनिक भास्कर हिंदी: बिहार: तेजस्वी यादव की हाईटेक रथ को लेकर विवाद, मंत्री नीरज का आरोप- BPL कार्ड होल्डर के नाम पर है बस

February 15th, 2020

हाईलाइट

  • 23 फरवरी से तेजस्वी निकालेंगे बेरोजगारी हटाओ यात्रा
  • तेजस्वी यादव ने कहा- पार्टी ने किराए पर ली है बस
  • बीपीएल लिस्ट में नहीं है मेरा नाम: मंगल पाल

डिजिटल डेस्क, पटना। बिहार में सत्ताधारी जनता दल (यूनाइटेड) के मंत्री नीरज कुमार ने विपक्ष के नेता तेजस्वी यादव की बेरोजगारी हटाओ यात्रा के लिए तैयार की गई हाईटेक बस को लेकर सवाल उठाए हैं। मंत्री ने आरोप लगाया है कि राजद के नेता और पूर्व उपमुख्यमंत्री तेजस्वी यादव बेरोजगारी हटाओ यात्रा में जिस बस का इस्तेमाल करने वाले हैं, उस बस का मालिक गरीबी रेखा से नीचे जीवन-यापन करने वाला व्यक्ति है। यही नहीं, बस के रजिस्ट्रेशन पेपर पर जो मोबाइल नंबर दिया गया है वह राजद के पूर्व विधायक अनिरुद्ध यादव के नाम है। तेजस्वी इस बस के माध्यम से पूरे प्रदेश में यात्रा करने वाले हैं।

बिहार के सूचना एवं जनसंपर्क विभाग के मंत्री नीरज कुमार ने सरकारी दस्तावेजों के साथ खुलासा करते हुए शनिवार को पत्रकार वार्ता में बताया कि जिस मंगल पाल के नाम से बस खरीदी गई है, वह बीपीएल कार्डधारी है। वह कैसे लाखों रुपए की बस खरीद सकता है। इस पर तेजस्वी यादव को जवाब देना चाहिए। मंगलपाल ग्राम हकीकतपुर, बख्तियारपुर के रहने वाले हैं। तेजस्वी एक गरीब व्यक्ति को आर्थिक जालसाज बना रहे हैं। उनको स्पष्ट करना चाहिए कि इतनी महंगी बस खरीदने के लिए आखिर यह पैसा किसका है। गाड़ी का मालिक कोई और मोबाइल नंबर किसी और का है, ऐसा कैसे हो सकता है?

 

 

23 फरवरी से तेजस्वी निकालेंगे बेरोजगारी हटाओ यात्रा
दसअसल, 23 फरवरी से राजद की बेरोजगारी हटाओ यात्रा शुरू हो रही है। इसके लिए बस खरीदी गई है। इसी बस को अत्याधुनिक सुविधायुक्त रथ के रूप में तैयार किया गया है। बस को युवा क्रांति रथ का नाम दिया गया है। इसके माध्यम से तेजस्वी नीतीश सरकार के खिलाफ अभियान चलाएंगे और लोगों को लामबंद करेंगे।

पार्टी ने किराए पर ली है बस
राजद नेता तेजस्वी यादव ने कहा कि पार्टी ने बस किराए पर ली है। बस किसकी है? कितने की है? पार्टी के लोग इसका जवाब देंगे। जदयू नेता द्वारा पेश किए गए कागजात पर मुझे जवाब नहीं देना। बिहार में बेरोजगारी बहुत बड़ा मुद्दा है। नीतीश कुमार ने बेरोजगारी खत्म नहीं की उसे बढ़ा दिया। जदयू के नेताओं को बेरोजगारी हटाओ यात्रा से डर लग रहा है।

बीपीएल लिस्ट में नहीं है मेरा नाम: मंगल पाल
मंगल पाल ने कहा कि बस भले मेरे नाम पर हो, लेकिन मैंने उसे नहीं खरीदा है। बस को साहेब (पूर्व विधायक अनिरुद्ध यादव) ने खरीदा है। मेरा नाम बीपीएल लिस्ट में नहीं है। मैं कॉन्ट्रैक्टर हूं। मंत्री नीरज कुमार द्वारा लगाए गए सभी आरोप गलत हैं। वहीं, अनिरुद्ध यादव ने कहा कि मंगल पाल बचपन से मेरे साथ है। वह मेरे लिए परिवार के सदस्य की तरह है। वह बीपीएल में नहीं है। वह कॉन्ट्रैक्टर है और इनकम टैक्स रिटर्न भरता है।

 

बहरहाल, 23 फरवरी से प्रारंभ होने वाली तेजस्वी की बेरोजगारी हटाओ यात्रा शुरू होने से पहले ही विवादों में फंस गई है।

खबरें और भी हैं...