महाराष्ट्र संकट: कांग्रेस ने राष्ट्रपति शासन की संभावना से किया इनकार

June 25th, 2022

डिजिटल डेस्क, मुंबई। महाराष्ट्र फिलहाल एक बड़े राजनीतिक संकट की चपेट में है। इस बीच प्रदेश कांग्रेस ने शनिवार को राज्य में राष्ट्रपति शासन की संभावना से इनकार कर दिया। महाराष्ट्र में राजनीतिक संकट गहराया हुआ है, जिसने सत्तारूढ़ महा विकास अघाड़ी सरकार को हिलाकर रख दिया है।

राज्य पार्टी के शीर्ष नेतृत्व की बैठक के बाद कांग्रेस विधायक दल के नेता और मंत्री बालासाहेब थोराट ने कहा, वर्तमान में राज्य में राष्ट्रपति शासन लगाने का कोई कारण नहीं है। एमवीए प्रयोग सफल होने जा रहा है। उन्होंने कहा कि नई दिल्ली की एक कानूनी टीम - जिसने 30 महीने पहले एमवीए गठबंधन के गठन को अंतिम रूप दिया था - यहां सामने आ रही राजनीतिक स्थिति पर कड़ी नजर रख रही है और जरूरत पड़ने पर इसका मुकाबला करने के लिए तैयार है।

थोराट ने कहा, वर्तमान में, एमवीए सरकार काम कर रही है और संवैधानिक और कानूनी प्रक्रियाओं को लेकर लड़ाई चल रही है। मुख्यमंत्री (उद्धव ठाकरे) इस बारे में फैसला करेंगे कि बागी मंत्रियों और विधायकों के साथ क्या किया जाना है।

कांग्रेस अध्यक्ष नाना पटोले ने दोहराया है कि केंद्र में भारतीय जनता पार्टी एमवीए सरकार को अस्थिर करने और गिराने के लिए केंद्रीय जांच एजेंसियों का दुरुपयोग कर रही है, लेकिन उनके इरादे विफल हो जाएंगे, क्योंकि 3 पार्टियों वाला महागठबंधन पूरी तरह से एकजुट है और सीएम के साथ खड़ा हुआ है।

 

डिस्क्लेमरः यह आईएएनएस न्यूज फीड से सीधे पब्लिश हुई खबर है. इसके साथ bhaskarhindi.com की टीम ने किसी तरह की कोई एडिटिंग नहीं की है. ऐसे में संबंधित खबर को लेकर कोई भी जिम्मेदारी न्यूज एजेंसी की ही होगी.

खबरें और भी हैं...