कांग्रेस का हमला: आर्थिक मुद्दों के जरिये भाजपा के हिंदुत्व को टक्कर देने की कांग्रेस की योजना

June 25th, 2022

डिजिटल डेस्क, नई दिल्ली। ज्ञानवापी मस्जिद विवाद की पृष्ठभूमि में भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के नए हिंदुत्ववाद और महाराष्ट्र में हिंदुत्व के नाम पर शिवेसना के दो खेमों में बंटने की घटना से कांग्रेस सतर्क हो गई है। कांग्रेस हिंदुत्व के एजेंडे को टक्कर देने के लिए सामाजिक और आर्थिक एजेंडे को आगे बढ़ाना चाहती है। हाल में ही संपन्न हुए चिंतन शिविर में वरिष्ठ कांग्रेसी नेताओं ने भाजपा से अलग विचारधारा के अपने मूल सिद्धांत पर टिके रहने पर जोर दिया। पार्टी ने चिंतन शिविर में यह फैसला लिया था कि वह भाजपा के हिंदुत्व के एजेंडे का सामना आर्थिक और सामाजिक एजेंडे से करेगी।

कांग्रेस की अंतरिम अध्यक्ष सोनिया गांधी ने वृहद स्तर पर लोगों तक पहुंच बनाने के लिए दो अक्टूबर से भारत जोड़ो पदयात्रा की भी घोषणा की है। कांग्रेस अन्य पिछड़ा वर्ग के मुद्दे को भी उठाकर भाजपा की सोशल इंजीनियरिंग को प्रभावित करना चाहती है। सूत्रों ने बताया कि यह पदयात्रा कम से कम 12 राज्यों से गुजरेगी। इन राज्यों में पार्टी समान विचारधारा वाले लोगों और राजनीतिक दलों से संपर्क करेगी। कांग्रेस इस यात्रा के जरिये समान विचारधारा वाले राजनीतिक दलों तथा सामाजिक क्षेत्र में काम करने वाले गैर सरकारी संगठनों को जोड़ना चाह रही है।

राहुल गांधी ने कहा था कि कांग्रेस लोगों से उत्पन्न हुई है और लोगों के लिए लड़ना पार्टी के डीएनए में है। कांग्रेस अभी केंद्र की अग्निपथ योजना के खिलाफ 27 जनू को राष्ट्रव्यापी सत्याग्रह की तैयारी कर रही है। पार्टी के संगठन महासचिव के सी वेणुगोपाल ने सभी प्रदेश इकाइयों को पत्र लिखकर सोमवार को शांतिपूर्वक सत्याग्रह करने के लिए कहा है। ज्ञानव्यापी मस्जिद के मुद्दे पर कांग्रेस के महासचिव अजय माकन ने कहा कि अभी यह मामला अदालत में विचाराधीन है और हमें उम्मीद है कि इसका फैसला प्रार्थनास्थल अधिनियम, 1991 के तहत होगा।

कांग्रेस का कहना है कि यह राजनीतिक अभियान है और यह भाजपा की महंगाई, बेरोजगारी और भारतीय मुद्रा में गिरावट से लोगों को भटकाने का तरीका है। पैगंबर मोहम्मद के बारे में नूपुर शर्मा के बयान का कांग्रेस ने विरोध किया है। पूर्व गृह मंत्री एवं वरिष्ठ कांग्रेसी पी चिदंबरम ने कहा कि नूपुर शर्मा और नवीन जिंदल इस्लामोफोबिया के जनक नहीं हैं। वे तो बस अपने राजा से अधिक वफादार होने की कोशिश कर रहे थे। कांग्रेस के नवनियुक्त महासचिव जयराम रमेश ने कहा कि कांग्रेस भारत जोड़ो की बात करती है जबकि भाजपा का नजरिया राहुल तोड़ो का है।

सोर्स- आईएएनएस

डिस्क्लेमरः यह आईएएनएस न्यूज फीड से सीधे पब्लिश हुई खबर है. इसके साथ bhaskarhindi.com की टीम ने किसी तरह की कोई एडिटिंग नहीं की है. ऐसे में संबंधित खबर को लेकर कोई भी जिम्मेदारी न्यूज एजेंसी की ही होगी.