राजस्थान : राजस्थान के उदयपुर में कांग्रेस का चिंतन शिविर, पार्टी ने बहुत कुछ दिया अब आपकी बारी है सोनिया गांधी

May 13th, 2022

हाईलाइट

  • शिविर की शुरूआत सोनिया गांधी के संबोधन से

डिजिटल डेस्क, जयपुर। अपने बुरे दौर से गुजर रही कांग्रेस  आज राजस्थान के उदयपुर में चिंतन शिविर  है। मिली जानकारी के मुताबिक कांग्रेस का ये चिंतन शिविर तीन दिन चलेगा। कांग्रेस के चिंतन शिविर के लिए पूरी उदयपुर नगरी पोस्टरों से अटी पड़ी है।  कयास लगाए जा रहे है कि इस चिंतन के मंथन में कांग्रेस पार्टी संगठन में जिम्मेदारी को लेकर परिवर्तन की नई नीतियों में बदलाव करने पर विचार करेगी। शिविर में पार्टी से जुड़े कई अहम मुद्दों पर चर्चा होगी। उसके बाद एक प्रस्ताव बनेगा जिस पर 15 मई को आयोजित कांग्रेस कार्य समिति की बैठक में मुहर लग सकती है। 

चिंतन शिविर' में कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी  ने कहा देश में ऐसा माहौल पैदा किया गया है कि लोग लगातार डर और असुरक्षा के भाव में रहें। अल्पसंख्यकों को शातिर तरीके से क्रूरता के साथ निशाना बनाया जा रहा है। अल्पसंख्यक हमारे समाज का अभिन्न अंग हैं और हमारे देश के समान नागरिक हैं

मिली जानकारी के मुताबिक शिविर की शुरूआत सोनिया गांधी के संबोधन से होगी, जो दोपहर 2 बजे होगा। चिंतन शिविर में कांग्रेस के 430 प्रतिनिधि शामिल होंगे।  सोनिया संबोधन के बाद कई बड़े नेता अपना संबोधन करेंगे जो फिर पूरे दिन भर चलेगा।  दूसरे दिन 14 मई   शनिवार  सुबह साढ़े दस बजे शिविर में  समूह संवाद शुरू होगा,जो करीब 2 बजकर 30 मिनट तक चलेगा। शिविर के आखिरी दिन तीसरे दिन 15 मई रविवार को यानी सुबह 11 बजे चिंतन शिविर का कार्यक्रम शुरू होगा।  

मिली जानकारी के मुताबिक कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी अपने तमाम कांग्रेस नेताओं के साथ दिल्ली से उदयपुर ट्रेन से गए। आपको बता दें लगातार चुनावों में हार का मुंह देख रही कांग्रेस पर परिवारवाद, मुखिया और सांगठनिक फैसले न लेने का फैसला किया है। इसलिए चिंतन शिविर में कांग्रेस का पूरा ध्यान सांगठनिक बदलाव और लोकसभा चुनाव की कार्ययोजना पर होगा।

कांग्रेस के एक वरिष्ठ नेता का कहना है कि कांग्रेस का ये चिंतन शिविर 19 साल बाद आयोजित हो रहा है। बताया जा रहा है शिविर में सभी लोगों को अपनी राय बिना संकोच के रखने  का मौका मिलेगा।

 

 

 

खबरें और भी हैं...