comScore

कर्नाटक: पूर्व मंत्री राजा मदनगोपाल नायक का कोरोना से निधन

कर्नाटक: पूर्व मंत्री राजा मदनगोपाल नायक का कोरोना से निधन

हाईलाइट

  • कर्नाटक के पूर्व मंत्री का कोरोना से निधन

डिजिटल डेस्क, कलबुर्गी। कर्नाटक के पूर्व मंत्री व कांग्रेस नेता राजा मदनगोपाल नायक का कोविड-19 से संक्रमित थे। राज्य के उत्तरी क्षेत्र कलबुर्गी स्थित एक नामचीन अस्पताल में निधन हो गया। एक अधिकारी ने यह जानकारी मंगलवार को दी। नायक 70 वर्ष के थे।

कलबुर्गी जिला स्वास्थ्य अधिकारी के.एस. मल्लिकार्जुन ने आईएएनएस को फोन पर बताया, नायक का कोरोनावायरस के कारण सोमवार को ईएसआई अस्पताल में निधन हो गया। उन्हें इस अस्पताल में 23 जुलाई को भर्ती कराया गया था। वह यादिगीर जिले के निकट स्थित अपने पैतृक स्थान (सुरपुर) से यहां इलाज के लिए आए थे। कलबुर्गी बेंगलुरु से लगभग 630 किलोमीटर उत्तर में है।

नायक साल 1992-94 के दौरान वीरप्पा मोइली के नेतृत्व वाली कांग्रेस की सरकार में मंत्री थे। वह न्यूमोनिया और हृदयरोग से भी पीड़ित थे। वह राज्य के पहले राजनेता हैं, जिनका कोविड-19 से निधन हुआ है। अधिकारी ने याद किया, नायक यहां जैसे ही भर्ती हुए, उनके स्वैब का नमूना जांच के लिए ले जाया गया। रिपोर्ट पॉजिटिव आई, इसके बाद से कोविड के लक्षणों के मुताबिक उनका इलाज चल रहा था। नायक के परिवार में उनकी पत्नी और दो बेटे हैं।

पार्टी के कद्दावर नेता नायक को कांग्रेस ने जब टिकट देने से इनकार कर दिया था, तब वह क्षेत्रीय पार्टी जनता दल-सेक्युलर (जद-एस) में शामिल हो गए थे। वह साल 1994 और 1999 के विधानसभा चुनाव सुरपुर से जीते थे। बाद में वह भाजपा में शामिल हो गए। अप्रैल 2013 का विधानसभा चुनाव वह कांग्रेस के राजा वेंकटप्पा से हार गए थे। इसके बाद वह फिर कांग्रेस में शामिल हो गए थे।

कमेंट करें
fCwSL