comScore

© Copyright 2019-20 : Bhaskarhindi.com. All Rights Reserved.

वायरल: मप्र में भाजपा के लिए अपने बन रहे मुसीबत का सबब, शिवराज कैबिनेट में मंत्री इमरती देवी ने कहा- जिस कलेक्टर को कहेंगे चुनाव जितवा देगा 

वायरल: मप्र में भाजपा के लिए अपने बन रहे मुसीबत का सबब, शिवराज कैबिनेट में मंत्री इमरती देवी ने कहा- जिस कलेक्टर को कहेंगे चुनाव जितवा देगा 

डिजिटल डेस्क, भोपाल। मध्यप्रदेश में भारतीय जनता पार्टी के लिए अपने ही मुसीबत का सबब बन रहे हैं। नेताओं की फिसलती जुबान और बयानबाजी के कारण विपक्षी कांग्रेस को हमला करने का मौका मिल रहा है। इस बार कांग्रेस छोड़कर भाजपा में शामिल हुई और सीएम शिवराज सिंह चौहान की कैबिनेट में मंत्री बनी इमरती देवी ने उपचुनाव को लेकर विवादित बयान दिया है। डबरा से संभावित उम्मीदवार और राज्य की महिला बाल विकास मंत्री के बयान के बाद जहां शिवराज और भाजपा बैकफुट पर है, वहीं विपक्ष ने सरकार पर निशाना साधा है।

सोशल मीडिया पर वायरल हो रहे वीडियो में इमरती देवी कहते हुए दिख रही हैं कि जिस कलेक्टर को कह दिया जाएगा वह संबंधित विधानसभा सीट जिताकर ला देगा। ग्रामीणों को संबोधित करते हुए वह कह रही हैं कि हमें सरकार में रहने के लिए 8 सीटें जितनी है। कांग्रेस को सत्ता में वापसी के लिए 28 सीटें चाहिए। वह ग्रामीणों से कह रही हैं कि आप बता तो दो कि सत्ता और सरकार आखें मूंदें बैठी रहेंगी और वो पूरी की पूरी जीत लेंगे। इसके बाद व कहती हैं, 'सत्ता और सरकार का इतना होता है कि वो कहे कलेक्टर से कि हमें ये सीट चाहिए, तो वो हमें मिल जाएगी। मंत्री के इस बयान की कांग्रेस ने निर्वाचन आयोग से शिकायत की है।

पहले भी बयानों को लेकर विवाद में फंस चुकी हैं इमरती
यह पहली बार नहीं है जब इमरती देवी के बयान से पार्टी मुश्किल में है, इससे पहले भी उन्होंने आंगनबाड़ी केंद्रों में अंडा और दूध बांटने का ऐलान किया था, लेकिन बाद में सीएम शिवराज ने अंडे वाली बात से इंकार कर दिया। कुछ दिन पहले कोरोना महामारी को लेकर भी इमरती देवी का बयान खूब वायरल हुआ था, इसमें उन्होंने कहा था कि वह मिट्टी और गोबर में पैदा हुई हैं, इसलिए कोरोना वायरस उनके निकट भी नहीं आ सकता है।

इन नेताओं की भी जुबान फिसली

  • इसी तरह का एक विवादित बयान टीकमगढ़ जिले के भाजपा विधायक का आया है। विधायक राकेश गिरी गोस्वामी ने गरीबों को राशन पर्ची वितरित करने के लिए आयोजित कार्यक्रम में कहा कि पार्टी में आकर कई ऐसे बड़े नेता बन गए हैं जो राशन की कालाबाजारी किया करते थे।
  • सागर के सुरखी विधानसभा क्षेत्र से भाजपा के संभावित उम्मीदवार और परिवहन मंत्री गोविंद सिंह राजपूत की रामशिला पूजन यात्रा के समापन के दौरान जुबान ही फिसल गई और वे भाजपा पर ही हमला कर गए। उन्होंने कहा कि भाजपा नकली राम और भगवा का सहारा ले रही है।
  • इसके अलावा ग्वालियर में तो मंत्री प्रद्युम्न सिंह तोमर की कांग्रेस नेताओं से धक्का-मुक्की तक हो गई।

बयानबाजी को लेकर कांग्रेस हुई हमलावर
भाजपा नेताओं की बयानबाजी और अन्य राजनीतिक घटनाक्रमों को लेकर कांग्रेस हमलावर हो गई है। मीडिया विभाग के उपाध्यक्ष सैयद जाफर का कहना है कि उपचुनाव में अपनी संभावित हार को देखते हुए भाजपा गुंडागर्दी पर उतर आई है और आशंका इस बात की है कि विधानसभा उपचुनाव में भाजपा की सरकार प्रशासनिक मशीनरी का दुरुपयोग कर सकती है।

बयान से पलटीं, बोलीं- जनता का विश्वास और वोट मिलेंगे
विवादित बयान को लेकर इमरती देवी ने सफाई देते हुए कहा, अभी तो आचार संहिता नहीं लगी है। हम तो विकास के नाम पर चुनाव लड़ रहे हैं। जनता को भाजपा पर भरोसा है और हमें वोट मिलेंगे। विकास की जिम्मेदारी जनप्रतिनिधियों के साथ प्रशासनिक अधिकारियों पर होती है।

कमेंट करें
Uy35j