पंजाब कांग्रेस में फिर शुरू हुई कलह: सिद्धू के बगावती तेवर, अपने ही सरकार को दे डाली चेतावनी 

November 25th, 2021

डिजिटल डेस्क, चंडीगढ़। पंजाब में विधानसभा चुनाव से पहले एक बार फिर बयानों का दौर चल पड़ा है। इस बार प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष नवजोत सिंह सिद्धू और अपनी ही पार्टी के सीएम चरणजीत सिंह चन्नी के बीच ठन सकती है। इससे पहले भी सीएम चन्नी और सिद्धू के बीच कई मुद्दों पर मतभेद साफ तौर पर देखा जा चुका हैं। अभी बीते दिनों करतारपुर कॉरिडोर खुलने के बाद ही चन्नी जब प्रतिनिधि मंडल को लेकर दर्शन के लिए जा रहे थे तो उस प्रतिनिधि मंडल में सिद्धू को शामिल नहीं किया गया था, इस पर भी सिद्धू ने नाराजगी जाहिर की थी।

नशे की वजह से पीढ़ियां बर्बाद हो रही हैं

बता दें कि सिद्धू ने रैली के दौरान कहां, पंजाब के लाखों युवा ड्रग्स लेकर मर गए,  युवक आज भी ड्रग्स की सुई ले रहे हैं। उन्होंने कहा, पटियाला में एक बुजुर्ग ने उनसे बात की और कहा, सिद्धू मैं नशे की लत से अपने पोते की हालत देखकर रोता हूं। सिद्धू ने कहा कि नशे की वजह से युवाओं की पीढ़ी बर्बाद हो रही है, लोग राज्य छोड़कर भी जा रहे हैं. ऐसे में अगर लोग पंजाब छोड़कर जाते रहे तो खजाने में पैसा कहां से आएगा और फिर बड़े अस्पताल और लड़कियों के लिए कॉलेज कहां से बनेंगे। सिद्धू नें पंजाब में नशे की बढ़ती खपत और कारोबार को लेकर कहा कि अगर नशे और ड्रग्स से जुड़ी रिपोर्ट राज्य सरकार सार्वजनिक नहीं किया तो वे भूख हड़ताल करेंगे।

क्या बताते हैं आंकडे़?

बता दें कि आंकड़ों के मुताबिक देश के लगभग 2.1 प्रतिशत लोग नशीले पदार्थों का सेवन करते हैं। जिसमें मिजोरम सबसे पहले, पंजाब दूसरे और दिल्ली तीसरे नंबर पर हैं। नशा करने के मामले में सबसे अधिक लोग सिक्किम में हैं, भारत में पिछले तीन सालों में ड्रग्स का बाजार 455 फीसदी का इजाफा हुआ है।

खबरें और भी हैं...