दैनिक भास्कर हिंदी: चांडीमल ने की बॉल से छेड़छाड़, ICC ने लगाया 1 मैच का बैन

June 20th, 2018

हाईलाइट

  • श्रीलंकाई क्रिकेट टीम के कप्तान दिनेश चांडीमल को गेंद से छेड़छाड़ के मामले में दोषी पाया गया है।
  • आईसीसी ने चांडीमल पर एक मैच का बैन लगाया है।
  • चांडीमल पर आरोप लगा था कि उन्होंने मैच के दौरान अपनी जेब में रखे स्वीटनर से गेंद के साथ छेड़छाड़ की थी।

डिजिटल डेस्क, दुबई। श्रीलंकाई क्रिकेट टीम के कप्तान दिेनेश चांडीमल को गेंद से छेड़छाड़ के मामले में दोषी पाया गया है। आईसीसी ने चांडीमल को गेंद से छेड़छाड़ का दोषी करार देते हुए उन पर सजा के तौर पर एक मैच का बैन लगाया है। आईसीसी ने चांडीमल पर मैच फीस का 100 फीसदी जुर्माना भी लगाया है। इस बैन के बाद अब चांडीमल 23 जून से शुरु होने वाले वेस्टइंडीज के खिलाफ तीसरे टेस्ट मैच में नहीं खेल पाएंगे। चांडीमल पर आरोप लगा था कि उन्होंने वेस्टइंडीज के खिलाफ दूसरे टेस्ट मैच के दौरान अपनी जेब में रखे स्वीटनर से गेंद के साथ छेड़छाड़ की थी। 

 

 

Sri Lanka skipper Dinesh Chandimal handed a one-Test ban by ICC for his involvement in ball tampering during the second Test against the West Indies

 

चांडीमल ने मानी गलती

 

मैच रैफरी जवागल श्रीनाथ के मुताबिक दिनेश चांडीमल ने सुनवाई के दौरान ये बात स्वीकार की है कि उन्होंने मुंह में कुछ डाला था लेकिन वो क्या था ये उन्हें याद नहीं है। श्रीनाथ ने कहा कि घटना का फुटेज देखने के बाद ये साफ है कि दिनेश चांडीमल ने गेंद पर कुछ लगाया था। उनके मुंह में कुछ ऐसी चीज थी जिसे उन्होंने गेंद पर लगाया था और फिर गेंद को श्रीलंकाई गेंदबाज लहीरू कुमारा को दे दिया था। ऐसा करना आईसीसी की आचार संहिता के खिलाफ है। 

 

 

Image result for DINESH CHANDIMAL ball tampering

 

दूसरे टेस्ट के तीसरे दिन की घटना

 

बॉल से छेड़छाड़ की ये घटना वेस्टइंडीज-श्रीलंका टेस्ट के दूसरे दिन उस वक्त घटी थी जब श्रीलंका को विकेटों की तलाश थी। तभी ऑन फील्ड अंपायर अलीम डार, इयान गुल्ड और टीवी अंपायर रिचर्ड कैटलबोरो ने गेंद चमकाने के श्रीलंकाई कप्तान के तरीके पर चिंता जताई थी और पेनल्टी के तौर पर वेस्टइंडीज टीम को पांच रन दे दिेए थे जिसके बाद श्रीलंकाई टीम ने मैदान पर उतरने से मना कर दिया था और काफी देर तक मैच रोकना पड़ा था। श्रीलंकाई टीम मैनेजमेंट और कोच ने मैच रैफरी जवागल श्रीनाथ से इस बारे में बात की थी और बाद में टीम मैनेजमेंट ने श्रीलंकाई क्रिकेट बोर्ड से भी फोन पर बात की थी। सारे नाटकीय घटनाक्रम के बाद तब करीब दो घंटे बाद श्रीलंकाई टीम मैदान पर उतरी थी।