दैनिक भास्कर हिंदी: मैं बूढ़ा हो रहा हूं, इसलिए भावनाओं में बह जाता हूं : सुनील छेत्री

June 12th, 2018

हाईलाइट

  • भारतीय फुटबॉल टीम के कप्तान सुनील छेत्री ने कहा कि उनके जीवन का एक मात्र उद्देश्य फुटबॉल खेलना है, और वह इस जीवन को भरपूर जी रहे हैं।
  • छेत्री ने कहा कि शादी हो गई है, समय के साथ बूढ़ा हो रहा हूं, इसलिए भावनाओं में बह जाता हूं।
  • सुनील छेत्री ने अपनी कप्तानी में भारतीय फुटबॉल टीम को इंटरकॉन्टिनेंटल कप फुटबॉल टूर्नामेंट जिताया था।

डिजिटल डेस्क, नई दिल्ली। भारतीय फुटबॉल टीम को अपने दम पर इंटरकॉन्टिनेंटल कप फुटबॉल टूर्नामेंट जिताने वाले कप्तान सुनील छेत्री ने कहा कि उनके जीवन का एक मात्र उद्देश्य फुटबॉल खेलना है, और वह इस जीवन को भरपूर जी रहे हैं। रविवार को खेले गए इंटरकॉन्टिनेंटल टूर्नामेंट के फाइनल में सुनील ने केन्या को 2-0 से हराया था। मैच में भारतीय टीम की ओर से ये दोनों ही गोल कप्तान छेत्री ने दागे थे।

दिल्ली में आयोजित एक कार्यक्रम में जब छेत्री से पूछा गया कि वह इतने भावुक क्यों हो जाते हैं, तो छेत्री ने हंसकर कहा कि 'दरअसल मैं बूढ़ा हो गया हूं। उम्र 30 के पार हो चुकी है। कुछ नहीं मिला तो वीडियो ही बना दिया। इस चक्कर में उस दिन मैं ब्रेकफास्ट नहीं कर सका। अपने PR टीम से भी नहीं पूछा इसके लिए, वरना वह ये वीडियो नहीं डालने देते।'

उन्होंने फिर हंसते हुए कहा कि, "शादी हो गई है, समय के साथ बूढ़ा हो रहा हूं, इसलिए भावनाओं में बह जाता हूं। सुनील छेत्री ने स्वीकार किया कि वह बूढ़े हो रहे हैं और इस वजह से भावुक भी हो रहे। इसका असर उनके जीवन पर भी पड़ रहा है।

इंटरकॉन्टिनेंटल कप जीतने के बाद 33 वर्षीय छेत्री ने कहा, 'फुटबॉल ही उनका जीवन है। काफी मशक्कत के बाद आखिरकार उन्होंने ये खिताब जीत ही लिया। न्यूज़ीलैंड से हारने का बाद उन्हें भरोसा था कि उनकी टीम वापसी ज़रूर करेगी और उन्होंने वापसी कर यह टूर्नामेंट जीता। पूरी टीम के पास इस देश और इस खेल के लिए डिटर्मिनेशन था।'

गौरतलब है कि हाल ही में समाप्त हुए इंटरकॉन्टिनेंटल कप टूर्नामेंट के दौरान सुनील छेत्री ने सोशल मीडिया पर एक वीडियो शेयर किया था। इस वीडियो में छेत्री ने भावुक होते हुए हाथ जोड़कर दर्शकों से मैदान पर खेल देखने आने की विनती की थी। शेयर होते ही यह वीडियो वायरल हो गई थी और भारतीय क्रिकेट के कप्तान विराट कोहली, सचिन तेंदुलकर समेत कई दिग्गजों ने छेत्री का समर्थन किया था।

 

 

सुनील ने की मेस्सी की बराबरी
इंटरकॉन्टिनेंटल कप के बाद सुनील छेत्री ने अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर अर्जेंटीना के स्टार स्ट्राइकर लियोनेल मेस्सी की बराबरी कर ली है। सुनील छेत्री सर्वाधिक गोल करने वालों की सूची में मेस्सी के साथ संयुक्त रूप से दुसरे स्थान पर पहुंच गए हैं। अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर सर्वाधिक गोल के मामले में नंबर एक पर पुर्तगाली स्टार स्ट्राइकर क्रिस्टियानो रोनाल्डो काबिज हैं। रोनाल्डो के नाम 150 मैच में 81 गोल दर्ज़ हैं। 33 वर्षीय छेत्री ने जहां 102 मैचों के बाद 64 गोल किये हैं, वहीं मेस्सी ने 124 मैचों के बाद 64 गोल किये हैं।

प्रति मैच गोल के मामले में छेत्री मेस्सी से बेहतर हैं। छेत्री ने मेस्सी के 0.52 (124 मैचों में 64 गोल) के मुकाबले प्रति मैच 0.62 (102 मैचों में 64 गोल) गोल किए हैं। क्रिस्टियानो (0.54 प्रति मैच) की तुलना में भी भारतीय कप्तान का बेहतर गोल औसत है। छेत्री, पूर्व कप्तान बाईचुंग भूटिया के बाद 100 अंतरराष्ट्रीय मैचों में शामिल होने वाले दूसरे भारतीय बने।