दैनिक भास्कर हिंदी: ओलंपिक एथलीटों के लिए ट्रेनिंग में समग्र दृष्टिकोण रखना महत्वपूर्ण : बिंद्रा

June 24th, 2020

हाईलाइट

  • ट्रेनिंग में समग्र ²ष्टिकोण रखना महत्वपूर्ण : बिंद्रा

डिजिटल डेस्क, नई दिल्ली। बीजिंग ओलंपिक के स्वर्ण पदक विजेता भारतीय निशानेबाज अभिनव बिंद्रा ने मंगलवार को कहा कि उन ओलंपिक एथलीटों के लिए ट्रेनिंग में समग्र दृष्टिकोण रखना महत्वपूर्ण है, जो चार साल में एक बार इस मंच पर प्रतिस्पर्धा करते हैं। बिंद्रा अंतर्राष्ट्रीय ओलंपिक दिवस समारोह के मौके पर बोल रहे थे। उन्होंने कहा, ओलंपिक चार साल में एक बार आता है और इसके लिए समग्र दृष्टिकोण का होना महत्वपूर्ण है। खिलाड़ी को एक ही मौका मिलता है तो विज्ञान, मेडिसिन, तकनीक और इंजीनियरिंग सभी का तैयारी में इस्तेमाल होना चाहिए।

इस अवसर पर भारतीय ओलंपिक संघ के अध्यक्ष नरेंद्र बत्रा ने लिएंडर पेस, अभिनव बिंद्रा और अंजू बॉबी जॉर्ज जैसे नामचीन खिलाड़ियों के साथ एक वेबिनार में भाग लिया। पेस ने कहा, भारत में प्रतिभाओं को तलाशने की जरूरत है और ओडिशा ने जमीनी स्तर पर यह काम शुरू किया है जो काफी अहम है। उन्होंने कहा, यह बहुत महत्वपूर्ण है। ओडिशा में और अधिक वैश्विक टूर्नामेंट आ रहे हैं और जबकि राज्य ने 2018 में अन्य कार्यक्रमों के बीच पुरुष विश्व कप की मेजबानी करने का काम किया है। कॉरपोरेट्स के साथ मिलकर ग्रास रूट स्पोर्ट्स विकसित करने के लिए जो कार्यक्रम शुरू किया गया है, वह सराहनीय है।

आईओए प्रमुख बत्रा ने कहा कि अगला एक साल महत्वपूर्ण होगा और एलीट एथलीटों पर ध्यान होगा। उन्होंने कहा, अगला साल अहम होगा और फोकस एलीट खिलाड़ियों पर रहेगा। हमारे 78 खिलाड़ी क्वालीफाई कर चुके हैं और मुझे यकीन है कि यह आंकड़ा 125 तक पहुंचेगा। उन्होंने कहा, हम सबको राष्ट्रीय खेल महासंघ मिलकर तैयारी की जिम्मेदारी लेंगे। मेरा मानना है कि हमें बदतर हालात से बेहतर तैयारी करने की कोशिश करनी होगी।