दैनिक भास्कर हिंदी: भारत देना चाहता है अफगानिस्तान में किक्रेट को बढ़ावा

June 14th, 2018

हाईलाइट

  • भारत और अफगानिस्तान के बीच बेंगलुरू के एम चिन्नास्वामी स्टेडियम में खेल जा रहे टेस्ट मैच को जितना अफगानिस्तान के लिए ऐतिहासिक माना जा रहा है उतना ही भारत के लिए खास है।
  • कुछ समय पहले ही अफगानिस्तान को टेस्ट का दर्जा मिला था और ये उनका पहला टेस्ट मैच है।
  • पीएम मोदी का मनना है कि किक्रेट दोनों देशों के बीच एकजुटता को मजबूत करेगा।
  • भारत आने वाले दिनों में अफगान में क्रिकेट को लोकप्रिय बनाने के लिए और कदम उठाएगा।


डिजिटल डेस्क, बेंगलुरू। भारत और अफगानिस्तान के बीच बेंगलुरू के एम चिन्नास्वामी स्टेडियम में खेल जा रहे टेस्ट मैच को जितना अफगानिस्तान के लिए ऐतिहासिक माना जा रहा है उतना ही भारत के लिए खास है। कुछ समय पहले ही अफगानिस्तान को टेस्ट का दर्जा मिला था और ये उनका पहला टेस्ट मैच है, लिहाजा इस ऐतिहाासिक मैच में अफगानिस्तान की टीम जीत हासिल कर इतिहास रचना चाहेगी। वहीं भारत के प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी इस मैच को भारत-अफगानिस्तान के आर्थिक, राजनीतिक संबधों से जोड़कर देख रहे हैं। पीएम मोदी का मनना है कि किक्रेट दोनों देशों के बीच एकजुटता को मजबूत करेगा। भारत को उम्मीद है कि दशकों से हिंसा ग्रस्त अफगानिस्तान के समाज में क्रिकेट की लोकप्रियता मरहम लगाने का काम करेगी और वहां के विभिन्न वर्गो को एक सूत्र में बांधने का काम करेगा। यही वजह है कि भारत आने वाले दिनों में अफगान में क्रिकेट को लोकप्रिय बनाने के लिए और कदम उठाएगा।

Image result for afghanistan vs india test


देश के सूचना व प्रसारण, और खेल मंत्री राजव‌र्द्धन राठौर भारत के प्रतिनिधित्व के तौर पर वहां रहेंगे। विदेश मंत्रालय के मुताबिक 17 वर्षो से भारत हर तरह से अफगानिस्तान में क्रिकेट को बढ़ावा देने की कोशिश में जुटा है। वर्ष 2001 में अफगानिस्तान को अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट संघ की सदस्यता मिली थी और उसके बाद से भारत वहां के खिलाडि़यों को तमाम तरह की सुविधाएं दे रहा है। आईपीएल में हैदराबाद की टीम से रशीद खान का खेलना इसका एक अच्छा उदाहरण माना जा सकता है साथ आईपीएल में अफगानी खिलाड़ी मोहम्मद नबी को भी मौका दिया गया था। भारत सरकार ने ग्रेटर नोएडा में एक बेहद आधुनिक स्टेडियम अफगानिस्तान के खिलाड़ियों को उपलब्ध कराया गया है जो एक तरह से अफगानिस्तान की क्रिकेट टीम का ''होम ग्राउंड'' है। 

 


पीएम मोदी ने अपने ऑफिशियल ट्टविटर अकाउंट के जरिए ट्विटर पर लिखा 'यह मौका वाकई में ऐतिहासिक है और हमें खुशी है कि अफगानिस्तान ने टेस्ट में डेब्यू के लिए बतौर विरोधी टीम के रूप में भारत को चुना। मैं सभी खिलाड़ियों को इसके लिए बधाई देता हूं। 

 

 

 

अफगान प्रेसिडेंट अशरफ गनी ने भी जताई खुशी

 

 


दोनों कप्तानों के कंधों पर जीत की जिम्मेदारी
भारत और अफगानिस्तान के बीच खेल जा रहे इस मैच में विराट कोहली की गैरमौजूदगी में भारत की ओर से अजिंक्य रहाणे कप्तनी कर रहे है तो वहीं अफगानिस्तान को जीत दिलाने की जिम्मेदारी असगर स्टानिकजई के हाथों में होगी। यह पहला मौका है, जब भारतीय टीम जून में कोई टेस्ट मैच होस्ट कर रही है। ये भारतीय धरती पर खेला जाने वाला 265 वां मैच होगा। मैच से मजबूत होंगे भारत-अफगानिस्तान के सबंध बेंगलुरू में खेल जा रहे भारत-अफगानिस्तान टेस्ट मैच को लेकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का कहना है कि किक्रेट भारत औऱ अफगानिस्तान की एकजुटता को और मजबूत करेगा। अफगानिस्तान के लाखों लोगों की खुशी को भारत भी बांटेगा। 

 


इस प्रकार हैं दोनों टीमें:
टीम इंडिया: अजिंक्य रहाणे (कप्तान), आर अश्विन, रवींद्र जडेजा, दिनेश कार्तिक (विकेटकीपर),  हार्दिक पांड्या, ईशांत शर्मा, उमेश यादव, शिखर धवन, केएल राहुल, चेतेश्वर पुजारा, मुरली विजया
अफगानिस्तान: मोहम्मद शहजाद, जावेद अहमदी, रहमत शाह, असगर स्टेनिकजई (कप्तान), हाशमतुल्ला शाहिदी, मोहम्मद नबी, अफसर जजाई (विकेटकीपर), राशिद खान, यामीन अहमदजई, वफादार, मुजीब उर रहमान