खेल मध्यप्रदेश हॉकी फाइनल: मप्र हॉकी अकादमी जीत के साथ पहुंची फाइनल में, खेल मंत्री ने दी बधाई

October 12th, 2021

हाईलाइट

  • भोपाल में खेली जा रही हैं प्रथम सब जूनियर बालक अकादमी नेशनल हॉकी चैंपियनिशप-2021

डिजिटल डेस्क,भोपाल। भोपाल में खेली जा रही प्रथम सब जूनियर बालक अकादमी नेशनल हॉकी चैंपियनिशप-2021 में मध्यप्रदेश हॉकी अकादमी ने अपनी विजय का सिलसिला बरकरार रखते हुए खिताबी मुकाबले में प्रवेश कर लिया। टीम की इस उपलब्धि के लिए खेल मंत्री यशोधरा राजे सिंधिया ने बधायी दी है। वहीं, दूसरे सेमीफाइनल में ओडिशा नवल टाटा हॉकी हाई परफॉमेंस सेंटर ने राउंडग्लास पंजाब हॉकी अकादमी को हराकर फाइनल में जगह पक्की की।

चैंपियनशिप के मुकाबले साई सेंटर ग्राम गोरा स्थित टर्फ मैदान पर खेले जा रहे हैं। खेल और युवा कल्याण मंत्री श्रीमती सिंधिया ने मप्र हॉकी अकादमी की टीम को फाइनल में पहुंचने पर बधाई दी है। उन्होंने कहा कि टीम का प्रदर्शन बेहतरीन रहा है। प्रशिक्षक समीर दाद और पूरी टीम को फाइनल मुकाबले के लिए शुभकामनाएं दी है। मप्र हॉकी अकादमी ने सेमीफाइनल में एसजीपीसी हॉकी अकादमी को एकतरफा 3-1 से पराजित किया। मप्र हॉकी अकादमी की यह चैंपियनशिप में लगातार चौथी जीत भी है।

मप्र हॉकी अकादमी के खिलाड़ियों ने पहले क्वार्टर से ही आक्रामक रूख अपनाए रखा। मैच के 12वें मिनट में मप्र हॉकी अकादमी को पेनल्टी कॉर्नर मिला। सद्दाम अहमद ने इसे गोल में बदलकर टीम को 1-0 से बढ़त दिला दी। एसजीपीसी की टीम की भी जवाब में मौके की तलाश में रही। हालांकि, मप्र हॉकी अकादमी की रक्षापंक्ति और गोलकीपर अमान खान ने उनके हमलों को विफल कर दिया। मैच का दूसरा क्वार्टर काफी रोमांचक रहा। दोनों टीमों ने एक-दूसरे के खिलाफ गोल के प्रयास किए। मैच के 21वें मिनट में एसजीपीसी को बराबरी का मौका मिला। जोबन सिंह ने मैदानी गोल करते हुए मैच को 1-1 की बराबरी पर ला दिया।

हालांकि, 4 मिनट में बाद ही मप्र हॉकी अकादमी को पेनल्टी कॉर्नर मिला। जमीर मोहम्मद ने कोई गलती नहीं की और गोल करते हुए टीम को 2-1 की बढ़त पर ला दिया। एसजीपीसी की टीम फिर एक बार दबाव में आ गई। मैच का तीसरा क्वार्टर गोलरहित रहा। दोनों टीमों ने छोटे-छोटे पास के साथ आक्रामक खेल दिखाया। मैच का अंतिम क्वार्टर बेहद रोमांचक रहा। दोंनों टीमों ने खेल में तेजी के साथ एक-दूसरे के गोलपोस्ट पर ताबड़तोड़ हमले किए। मैच के 49वें मिनट में मप्र हॉकी अकादमी के कप्तान अली अहमद ने मैदानी गोल करते हुए टीम के खेमे में खुशी की लहर दौड़ा दी। इसके साथ ही मप्र हॉकी अकादमी ने मुकाबला 3-1 से जीतकर फाइनल में प्रवेश कर लिया।

इससे पहले खेले गए चैंपियनशिप के पहले सेमीफाइनल में ओडिशा टाटा नवल हॉकी हाई परफॉर्मेंस सेंटर ने राउंडग्लास पंजाब हॉकी अकादमी को 5-2 से पराजित कर फाइनल में प्रवेश किया। ओडिशा नवल टाटा की टीम ने पहले क्वार्टर से ही राउंडग्लास पंजाब को बढ़त का मौका नहीं दिया। ओडिशा नवल टाटा ने पहले, दूसरे क्वार्टर में गोल करते हुए बढ़त 2-0 कर दी।

तीसरे क्वार्टर में ओडिशा नवल टाटा ने एक और गोल करते हुए बढ़त 3-0 कर दी। कुछ देर बाद ही राउंडग्लास पंजाब की टीम ने गोल करते हुए स्कोर 1-3 कर दिया। चौथे क्वार्टर की शुरूआत में ही ओडिशा नवल टाटा ने दो गोल और करके टीम को 5-1 की बढ़त पर मजबूत कर दिया। मैच के अंतिम मिनट में राउंडग्लास पंजाब हॉकी अकादमी गोल करके अंतर को 2-5 कर दिया।

इसके साथ ही ओडिशा नवल टाटा ने मुकाबला 5-2 से अपने नाम कर खिताब मुकाबले में अपनी जगह पक्की कर ली। मध्यप्रदेश हॉकी अकादमी और ओडिशा नवल टाटा हॉकी हाई परफॉर्मेंस सेंटर के बीच होने वाला फाइनल हाई वोल्टेज मुकाबला होगा। दोनों ही टीमें अपने आक्रामक अंदाज के साथ यहां तक पहुंची है। मप्र हॉकी अकादमी ओलंपियन समीर दाद के मार्गदर्शन में अब तक सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन करती आई है। वहीं ओडिशा नवल टाटा की टीम का प्रदर्शन लाजवाब रहा है।

ओडिशा नवल टाटा की टीम विदेशी प्रशिक्षकों से ट्रेंड है। आक्रामक शैली उनके खेल का प्रमुख हिस्सा रहा है। मप्र हॉकी अकादमी पहली बार आयोजित चैंपियनशिप के फाइनल में पहुंची है। फाइनल कल सुबह 10:30 बजे से खेला जाएगा। बघेल

(वार्ता)